रांची, जागरण संवाददाता। Ranchi University - रांची विश्वविद्यालय में स्नातक व स्नातकोतर के विभिन्न मदों में लिए जाने वाले शुल्क में वृद्धि कर दी गई है। अब विद्यार्थियों को वार्षिक शुल्क के एवज में 1540 रुपये की जगह 5540 रुपये देने होंगे। बढ़ा हुआ शुल्क इसी सत्र से लागू होगा। शनिवार को कुलपति डॉ. रमेश कुमार पांडेय की अध्यक्षता में हुई फाइनेंस कमेटी की बैठक में शुल्क वृद्धि से संबंधित प्रस्ताव पर मुहर लग गई।
पहली बार विद्यार्थियों को कॉलेज या पीजी विभागों में सिक्योरिटी मद में 50 रुपये देने होंगे। बैठक में प्रोवीसी डॉ. कामिनी कुमार, डीएसडब्ल्यू डॉ. पीके वर्मा, एफए एस. मुखोपाध्याय, एफओ केके वर्मा, प्राचार्य डॉ. मंजू सिन्हा, डॉ. वीएस तिवारी सहित अन्य थे।

इन मदों में पहली बार लगेगा शुल्क

सिक्योरिटी मद -   50 रुपये प्रतिवर्ष
आइ कार्ड    -   50 रुपये
एकेडमिक इयर व पुअर ब्वायज   - 50 रुपये वार्षिक
एनसीसी    -    30 रुपये वार्षिक
बाइक साइकिल स्टैंड  -   20 रुपये वार्षिक
फील्ड वर्क (शैक्षणिक टूर) -    200 रुपये

मूल्यांकन दर में हुई वृद्धि
बैठक में उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन दर में वृद्धि के प्रस्ताव को भी स्वीकृति दी गई। अब यूजी के परीक्षकों को प्रति उत्तरपुस्तिका 20 रुपये व पीजी के लिए 25 रुपये मिलेंगे। वर्तमान में यूजी में 13 रुपये और पीजी में 15 रुपये भुगतान किया जाता है। कर्मचारियों को निर्धारित अवधि से अधिक समय तक कार्य करने पर रिफ्रेशमेंट मद में वृद्धि की गई है।
वहीं निर्धारित से अधिक अवधि तक कार्य करने के एवज में होनेवाले भुगतान में 50 रुपये की वृद्धि की गई है। अवकाश के दिन में कार्य करने पर होने वाले भुगतान की राशि में 100 रुपये की वृद्धि की गई है। बढ़ाई गई राशि बॉयोमीट्रिक्स अटेंडेंस रहने पर ही दी जाएगी।

हेल्थ बीमा में नहीं लगेगा शुल्क

विवि के सभी विद्यार्थियों का हेल्थ बीमा कराया जाएगा, जिसके तहत तीन लाख रुपये तक का इलाज करा सकते हैं। इसके लिए विद्यार्थियों को किसी प्रकार का शुल्क जमा नहीं करना होगा। बैठक में डोरंडा कॉलेज को मिस्लेनियस एक्सपेंडिचर मद में 75 लाख, वीमेंस कॉलेज को 1.20 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई।
कर्मचारियों को वर्दी धुलाई के लिए अब पांच की जगह 50 रुपये दिए जाएंगे। शिक्षकों को शैक्षणिक कार्य के लिए यात्रा भत्ता की राशि में प्रति किलोमीटर चार रुपये की दर से बढ़ोतरी की गई है। अब शिक्षकों को प्रति किलोमीटर यात्रा भत्ता के तौर पर 12 रुपये मिलेंगे।
विद्यार्थियों का नि:शुल्क स्वास्थ्य बीमा कराया जाएगा। इसके अलावा कुछ नए शुल्क भी जोड़े गए हैं। इस कारण वार्षिक शुल्क बढ़ाया गया है। -प्रो. कामिनी कुमार, प्रोवीसी, आरयू।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman