रांची, जागरण संवाददाता। पीएलएफआई उग्रवादी पति निवेश के साथ पहली बार रांची स्थित ससुराल पहुंची बांग्लादेशी लड़की धुर्वा स्थित अपने घर जाने के बजाय होटवार जेल पहुंच गई। निवेश की तथाकथित पत्नी अंजलि उर्फ लिली उर्फ फातिमा को पुलिस निवेश समेत दो अन्य उग्रवादियों के साथ बक्सर से गिरफ्तार कर पहली बार रांची लाई थी। निवेश पिछले लगभग एक वर्ष से अंजलि उर्फ लिली उर्फ फातिमा को अपनी पत्नी बता कर दिल्ली समेत विभिन्न जगहों पर भ्रमण कर रहा था लेकिन रांची के धुर्वा स्थित अपने घर कभी नहीं लाया था।

उग्रवादी पति के साथ पहली बार ससुराल पहुंची थी बांग्लादेशी लड़की

अंजलि उर्फ लिली और फातिमा ने अपने उग्रवादी पति के समक्ष पहले कई बार रांची के धुर्वा स्थित ससुराल पहुंच कर परिवार के अन्य लोगों से मिलने की इच्छा भी जताई थी लेकिन तरह तरह का बहाना बनाते हुए निवेश उसे राज्य के अन्य शहरों में भ्रमण कराने के बाद दिल्ली स्थित होटल में पहुचा देता था। लिली को धुर्वा स्थित थाना तक तो पुलिस ले गई लेकिन उसके तथाकथित पति के घर तक नहीं पहुंचाई। तथाकथित पत्नी का अपने ससुराल जाकर परिवार के अन्य लोगों से मिलने का सपना अधूरा ही रह गया और वह होटवार स्थित जेल चली गई।

धुर्वा घर जाने के बजाय पहुंच गई होटवार जेल

पहले पति से तलाक होने के बाद 7 वर्ष की बेटी को छोड़कर बांग्लादेश से दिल्ली पहुंची थी फातिमा, निवेश के संपर्क में आने के बाद की थी प्रेम विवाह बांग्लादेशी महिला अंजलि उर्फ लिली और फातिमा अपने पहले पति से तलाक होने के बाद 7 वर्ष की बेटी को छोड़कर दिल्ली पहुंची थी। दिल्ली स्थित एक होटल में ही अंजलि उर्फ लिली उर्फ फातिमा की मुलाकात सुप्रीमो दिनेश गोप का करीबी निवेश से हुई थी। खुद का हित साधने के लिए निवेश ने रांची स्थित धुर्वा में पहली पत्नी के रहते हुए लिली को प्रेम के झांसे में लिया था और शादी कर ली थी। निवेश एक जगह से दूसरी जगह आने जाने के दौरान पुलिस से बचने के लिए साथ में लिली उर्फ फातिमा को तथाकथित पत्नी बनाकर अपने साथ रखता था। निवेश अपने सहयोगियों के साथ जब बक्सर में पुलिस के हत्थे चढ़ा तो अंजलि उर्फ लिली उर्फ फातिमा भी गाड़ी में मौजूद थी जिसके बाद पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया था

Edited By: Madhukar Kumar