रांची, जागरण संवाददाता। चडरी मौजा के समस्त ग्रामीण हरमू बायपास रोड राँची स्थित चडरी मसना में चडरी मौजा के पाहन गुड्डू पाहन की अगुवाई में हड़गड़ी पूजा संपन्न कराई गयी । इस पूजा कार्यक्रम में चडरी मौजा के समस्त ग्रामीण डूम्बू , पूआ , तपावन व फूल माला मसना में चढ़ा कर अपने पूर्वजों के प्रति आस्था व सम्मान प्रकट किया ।

आपको बता दें कि आदिवासी समुदाय पूस एवं माघ महीने में इस पारंपरिक पूजा का आयोजन कर अपने पूर्वजों के प्रति आस्था व सम्मान कर कृतार्थ होते हैं । इस पूजा के दौरान मसना में पत्थलगड़ी भी करने की परंपरा पूर्वजों द्वारा स्थापित की गई है , इसी क्रम में चडरी सरना समिति के केंद्रीय अध्यक्ष श्री बबलू मुंडा ने अपने पूर्वजों की याद में पत्थलगड़ी भी किया तथा तमाम आदिवासी समुदाय के लोगों से आह्वान भी किया कि वर्तमान में झारखंड अलग राज्य होने के पश्चात विभिन्न प्रयोजनों के लिए भूमि अर्जित की जा रही है, तथा भू माफिया मसना वगैरह की भूमि पर येन केन प्रकारेण अतिक्रमण भी कर रहे हैं, जिससे आदिवासियों की पारंपरिक व्यवस्था छिन्न भिन्न हो रही है अतः सभी मसना वाली भूमि में अपने पूर्वजों के नाम पत्थलगड़ी आवश्यक रूप से करें ताकि मसना वाली भूमि अतिक्रमण से मुक्त रहें, तथा जिन भी गाँवों में सरना - मसना की चारदिवारी नहीं हो सकी है। 

उन गाँवों के गणमान्य व समाजसेवी लोग शीघ्रातिशीघ्र सम्पर्क करें ताकि चारदिवारी की क्रियान्वयन शीघ्रता से शुरू की जा सके। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से चडरी सरना समिति के मुख्य सलाहकार कुमोद कुमार वर्मा चडरी सरना समिति के प्रधान महासचिव सुरेंद्र लिंडा छोटू पहान फूदकू पहान सबलू मुंडा विक्की मुंडा राहुल मुंडा आकाश मुंडा अमन मुंडा डबलू मुंडा उदय मुंडा पल्लू मुंडा चिकू लिन्डा प्रकाश मुंडा आशीष मुंडा मंगल मुंडा अशोक मुंडा रवि मुंडा राजू मुंडा प्रदीप मुंडा गोलू मुंडा गौतम मुंडा मोलू मुंडा बबन मुंडा दुर्गा मुंडा दीपक मुंडा एवं चडरी मौजा के महिला एवं पुरुष सैकड़ों की संख्या में उपस्थित थे।

Edited By: Madhukar Kumar