रांची, जागरण संवाददाता। Durga Puja 2022 दुर्गा पूजा पर राजधानी सजधज कर तैयार हो चुकी है। चमचमाती बिजली के तोरण द्वार से शहर जगमग हो चुका है। हर तरफ पूजा पंडाल और मां दुर्गो के गीतों से लाेग भक्ति में डूब चुके हैं। शहर में अधिकांश पूजा पंडाल के श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खुल चुके हैं। प्रत्येक पूजा पंडाल के आसपास खाने-पीने के स्टाल सज चुके हैं। अबतक शहर में लगभग 155 पंजीकृत पूजा पंडाल का निर्माण हो चुका है। इनमें मात्र 72 पूृजा पंडालों ने अबतक बिजली का अस्थाई कनेक्शन लिया है।

रांची शहर में दुर्गापूजा पर 20 हजार अस्थाई दुकान

विभाग बिजली कनेक्शन नहीं लेने वाले पूजा पंडालों के साथ-साथ स्टाल लगाने वालों पर कार्रवाई करने की तैयारी में है। शहर में लगभग 20 हजार स्टाल विभिन्न पूजा पंडालों के बाहर लगाए गए हैं। इनमें मात्र 47 स्टाल दुकानदारों ने बिजली कनेक्शन लिया है। झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के अधीक्षण अभियंता दिनेश्वर कुमार सिंह ने बताया कि रविवार से शहर और गांव में पूजा पंडाल के आसपास लगने वाले स्टाल दुकानदारों के बिजली कनेक्शन की जांच की जाएगी। दोषी पाए जाने पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

500 रुपये एडवांस जमा कर लीजिए बिजली कनेक्शन

टोका फंसा कर बिजली चोरी करना पूजा पंडाल व स्टाल दुकानदारों के लिए महंगा पड़ेगा। इसकी जांच के लिए बिजली विभाग ने टीम गठित की है। सभी स्टाल दुकानदारों की जांच की जाएगी। बिजली विभाग ने कहा है कि 500 रुपये एडवांस जमाकर अस्थायी कनेक्शन लिया जा सकता है। बिजली बिल कम आने पर शेष राशि लौटा दी जाएगी।

इस तरह ले सकते हैं बिजली का अस्थाई कनेक्शन

बिजली का अस्थाई कनेक्शन लेने के लिए एक पत्र अपने संबंधित बिजली विभाग को देना होगा। 500 रुपये एडवांस जमा करना होगा। इसके बाद विभाग द्वारा बिजली मीटर दिया जाएगा। पूजा समाप्त होने के बाद स्टाल धारक बिजली विभाग में बिजली मीटर जमा करेंगे। इसके बाद विभाग द्वारा मीटर रीडिंग की जाएगी। फिर रीडिंग के अनुसार पैसे काटकर बाकी पैसे वापस कर दिये जाएंगे।

पूजा पंडालो में लगेगा कोरोना का टीका

उधर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान, झारखंड के अभियान निदेशक डा. भुवनेश प्रताप सिंह ने सभी पूजा पंडालों में वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित कर कोरोना टीकाकरण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने शनिवार को नोडल पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में ये निर्देश दिए। साथ ही कोराेना टीका के दूसरे व बूस्टर डोज का लक्ष्य शीघ्र पूरा करने को कहा। अभियान निदेशक ने कहा कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है इसलिए सभी नोडल पदाधिकारी अपने जिलों के 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों में छुटे हुए नागरिकों को दूसरे व बूस्टर डोज लगाने का कार्य पूरा करें। कहा कि 12-14 वर्ष तथा 15-17 वर्ष के बच्चों का कोरोना टीकाकरण अनिवार्य रूप से किया जाए। प्रत्येक जिला के लिए जिलावार प्रतिदिन लक्ष्य दिया गया है, उसके अनुरूप ससमय कार्ययोजना बनाते हुए कार्य करें। यह चेतावनी भी दी कि कार्य में कोताही बरतने वाले कर्मचारियों एवं पदाधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: M Ekhlaque

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट