रांची, राज्य ब्यूरो। केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने राज्य सरकार को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि विभिन्न जिलों में आम लोगों के पास मौजूद हथियारों में से 85 फीसद तक जमा हो जाए। इसके पूर्व लोकसभा चुनाव के दौरान इसका प्रतिशत कहीं कम था और इसे अब दुरुस्त करने की हिदायत दी गई है। इसके साथ ही सभी जिलों में वारंटियों की गिरफ्तारी पर अद्यतन स्थिति की भी जानकारी आयोग की टीम ने ली।

टीम का नेतृत्व उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन तथा सचिव अरविंद आनंद कर रहे हैं और शुक्रवार को भी अधिकारी इस संदर्भ में जिलों के अधिकारियों से जानकारी लेंगे। आयोग की टीम ने राजनीतिक दलों के साथ बैठक करने के बाद मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कृपानंद झा, अपर पुलिस महानिदेशक सह राज्य पुलिस नोडल पदाधिकारी मुरारी लाल मीणा, पुलिस महानिरीक्षक संजय आनंद लाटकर, उपमहानिरीक्षक साकेत कुमार सिंह एवं कुलदीप द्विवेदी के साथ बैठक की।

बैठक में स्वच्छ ,शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष मतदान के लिए की जा रही तैयारियों की समीक्षा की गई एवं आवश्यक निर्देश दिए गए। अधिकारियों ने निर्वाचन आयोग से हेलीकॉप्टर मुहैया कराने की बात कही, जिसपर टीम तैयार भी हो गई। पुलिसिया तैयारियों की जानकारी के क्रम में आयोग ने चरणवार पुलिस जवानों और अधिकारियों की जरूरत की जानकारी ली। राज्य के अधिकारियों से एक बार फिर शुक्रवार को आयोग की टीम रू-ब-रू होगी।

इसके पूर्व गुरुवार को आयोग ने रांची के होटल रेडिशन ब्लू में सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से 6-6 मिनट में उनके सुझाव मांगे। राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे तथा राज्य पुलिस नोडल पदाधिकारी मुरारी लाल मीणा से प्रशासनिक और पुलिस की तैयारियों का जायजा लिया। निर्वाचन आयोग की टीम शुक्रवार को सभी जिलों के उपायुक्त, पुलिस अधीक्षकों से रिपोर्ट लेगी और इस दौरान संबंधित आयुक्त और आइजी भी मौजूद रहेंगे।

चुनाव की घोषणा 25 अक्टूबर के बाद कभी भी संभव

विधानसभा चुनाव की घोषणा 25 अक्टूबर के बाद कभी भी हो सकती है। भारत निर्वाचन आयोग की टीम दो दिनों तक बैठक के बाद अपनी रिपोर्ट आयोग को सौंपेगी जिसके बाद चुनाव की घोषणा होगी। 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र तथा हरियाणा विधानसभा चुनाव का परिणाम आना है। इसके बाद झारखंड विधानसभा चुनाव की घोषणा हो सकती है।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप