रांची, जासं । 12 मई यानी बुधवार को रमजान की 29 तारीख की शाम राज्य में 52 केंद्रों से ईद का चांद देखा जाएगा। एदारा-ए-शरिया ने इन केंद्रों पर आधुनिक तकनीक से लैस दूरबीन मुहैया कराई है। ताकि उलमा-ए-केराम आसानी से ईद के चांद का दीदार कर सकें। चांद देखने का बड़ा केंद्र डोरंडा में बनाया गया है ‌ जहां कुछ बड़े ओलमा चांद देखने के लिए मौजूद रहेंगे। आम लोगों से भी अपील की गई है कि वह चांद देखें और अगर चांद नजर आए तो एदारा-ए-शरिया के जारी किए गए नंबर पर फोन कर इसकी इत्तला दें।

 एदार-ए-शरीया झारखंड के नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने कहा है कि 12 मई यानी बुधवार को रमजान उल मुबारक की 29 तारीख है। इसमें  ईद-उल-फित्र का चांद नजर आने की संभावना है। अतःईद उल फित्र का चांद देखने की भरपूर कोशिश की जाए। ईद-उल-फित्र का चांद देखने का प्रयास करना वाजिब है। विशेषकर किसी ऊंची जगह से देखें और चांद देखने में सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखें। उलेमाए केराम, मस्जिदों के इमाम और मस्जिद कमीटीयों के जिम्मेदार भी सजग रहें। अगर कहीं चांद नजर आ जाए तो एदार-ए-शरीया और इस्लामी मरकज को नीचे दिए गए मोबाइल नम्बरों पर सूचित करें। साथ ही क्षेत्र के जो जिम्मेदार आलिमे दीन हैं उन्हें और जिले में कायम जिला व क्षेत्रीय रुयते हेलाल केंद्र ( चांद देखने के केंद्र) के जिम्मेदारों को भी खबर करें। ताकि जरूरत पड़ने पर शरई शहादत हासिल की जा सके।

वर्तमान स्थिति के मद्दे नजर एदार-ए-शरीया झारखंड ने चांद होने की सूरत में सबूते शरई प्राप्त करने के लिए बड़े पैमाने पर तैयारी की है और राज्य भर के चप्पे चप्पे पर हमारे जिम्मेदार  उलेमाए केराम और समाज के प्रबुद्ध लोग सजग हैं। कोरोना के बढते खतरात व लॉकडॉउन के कारण  एक ही जगह पर तमाम काजियाने शरीयत का मौजूद हो पाना संभव नहीं है। इस लिए रुयते हेलाल केंद्रों कि संख्या बढाई गई है।

चांद देखने के लिए नई तकनीक के दूरबीन हासिल किए गए हैं। कभी-कभी चांद के मामले में असमंजस की स्थिति पैदा हो जाती हैं। उससे निपटने के लिए भी एदार ए शरीया झारखंड ने ठोस एवं कारगर कदम उठाया है। वहीं तमाम मुसलमानों से  अपील की गई है  कि वह चांद के मामले में काजियाने शरीयत के  फैसले का इंतजार करें  और हर हाल में अफवाह और इंतेशार से बचें। एदारा ने चांद की विभिन्न कमेटियों से भी कहा है कि वह बगैर शरई सुबूत के किसी भी हाल में ऐलान ना करवाएं। बल्कि हर हाल में शरीयत का ख्याल रखें।

डोरंडा में रहेगा चांद देखने का मुख्य केंद्र

12 मई को राजधानी रांची में  चांद देखने के लिए  विभिन्न केंद्र बनाए गए हैं जबकि मुख्य केंद्र डोरंडा होगा। मुख्य केंद्र में महज चंद ही उलेमाए केराम रहेंगे। यहां पर ईद उल फित्र का चांद देखने की व्यवस्था की गई है। यहीं से राज्य भर में ईद उल फित्र के चांद के मामलात पर नजर रखी जाएगी एवं निर्धारित समय पर विधिवत घोषणा की जाएगी। नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने बताया कि राज्य भर में कुल 52 स्थानों पर हेलाल केंद्र बनाए गए हैं।

चांद देखे तो इन नंबरों पर करें संपर्क

एदार ए शरीया झारखंड रांची से संपर्क के लिए मोबाइल नंबर निम्न हैं.

9199780992,

6202583475 ،

9835553380,

9771338239,

9934137121,

9801370638 ,

6207349010,

9470964286,

8340427474,

9939235678,

8051093853,

9334427997,

9304411329،

9835365215,

9199883085,

9693974786,

8862981017,

7004897259,

7004880679,

9934206051,

7488703561,

7894487679,

6204950884,

9608216209,

8271999292,

6202583475,

9835130183

मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी

6202583475

9199780992,

9835126780