जागरण संवाददाता, रांची : कोविड-19 का संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। राज्य में आंकड़ा 65 हजार के पार कर चुका है और सिर्फ रांची जिले में प्रतिदिन 250 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में कोरोना से बचाव के लिए शारीरिक दूरी व मास्क के साथ पौष्टिक भोजन सबसे ज्यादा आवश्यक है। पौष्टिक भोजन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। भोजन में विटामिन सी को शामिल करके लोग अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। रांची विश्वविद्यालय की गृह विज्ञान की प्रो. डॉ. आशा कुमारी प्रसाद के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में प्रतिदिन का व्यायाम भी सहायक साबित होता है। इसलिए योग को भी दिनचर्या में शामिल करना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि गर्भवती एवं गर्भ में पल रहे बच्चे, बुजुर्ग, दस वर्ष से कम आयु के बच्चे व गंभीर बीमारियों के मरीजों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। इनको कोरोना अपनी चपेट में आसानी ले सकता है। इन सभी को कैल्शियम कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन युक्त भोजन करना चाहिए। इसके अलावा भोजन में फलों को शामिल करना चाहिए। दोपहर एवं रात के खाने में दाल का सेवन

आशा कुमारी प्रसाद के अनुसार दाल में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन होते हैं। भोजन में दाल को शामिल करना चाहिए। इसके अलावा पनीर, सोयाबीन व दही भी भोजन में शामिल करें। पेय पदार्थो का भी इस्तेमाल करना इम्युनिटी के लिए लाभदायक होता है। वायरस के संक्रमण में नारियल पानी, नीबू पानी, लस्सी, सूप, व जूस पीना चाहिए। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में कारगर होते हैं। इसके अलावा शरीर में पानी की कमी नहीं होने देते। पानी की कमी का दुष्प्रभाव भी रोग प्रतिरोधक क्षमता पर पड़ता है। पुदीना, धनिया, सौंफ भी फायदेमंद साबित होंगे।

------------

लहसुन,अदरक व खट्टे फल खाएं

लहसुन, अश्वगंधा और अदरक जैसी ह‌र्ब्स में हमारी इम्युनिटी को बढ़ाने की क्षमता होती है और यह शरीर को संक्रमण से लड़ने के लिए तैयार करती है। इनमें से सभी या किसी एक का भी अगर नियमित रूप से सेवन किया जाए तो संक्रमण होने की आशंका काफी हद तक कम हो सकती है। रोजाना की डाइट में कुछ खट्टे फल को जरूर शामिल करना चाहिए। यह नींबू से लेकर संतरे मौसमी तक कुछ भी हो सकते हैं। अगर यह ना खा सके तो रोजाना कम से कम एक आंवला खाना भी पर्याप्त होगा। खट्टे फल विटामिन सी के अच्छे स्रोत होते हैं, जो फ्री रेडिकल्स के असर को कम कर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की आदत डालें

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का यह सबसे आसान तरीका है कि पानी खूब पीना चाहिए। आप जितना पानी पिएंगे शरीर के टॉक्सिस उतने ही बाहर निकलेंगे और आप संक्रमण मुक्त होंगे। अगर रोजाना दिन में दो बार शहद या तुलसी का पानी पीने की आदत डाल लें तो यह और भी बेहतर होगा। किडनी के रोगी अधिक पानी पीने से परहेज करें।

Edited By: Jagran