रांची, जागरण संवाददाता। रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर मंगलवार को दोपहर बाद तकरीबन 2:45 बजे बड़ा हादसा होते-होते बचा। रांची से मुंबई जा रही इंडिगो की फ्लाइट टेक आफ करते ही एक चील से टकरा गई। विमान में 164 यात्री सवार थे। सभी यात्री बाल बाल बच गए। चील से टकराने के बाद पायलट ने सूझबूझ से विमान को काबू कर लिया और रांची एयरपोर्ट पर इसकी इमरजेंसी लैंडिंग कराई। इसके बाद इंजीनियरों ने विमान की जांच की। विमान में तकनीकी खामी आने की वजह से इसे रोक लिया गया है।

कोलकाता से इंडिगो का दूसरा विमान मंगाया गया और लगभग 5:15 बजे यात्रियों को लेकर यह विमान मुंबई के लिए रवाना हुआ। बताते हैं कि इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6 ई 341 से चील के टकराते ही एयरपोर्ट पर हड़कंप मच गया। इंजीनियर फौरन अलर्ट हो गए। पायलट ने इमरजेंसी लैंङ्क्षडग कराई। विमान के इमरजेंसी लैंङ्क्षडग करते ही सभी यात्री विमान से निकले। यात्रियों के चेहरे पर घबराहट साफ दिख रही थी।

मुंबई जा रहे डोरंडा के राकेश कुमार ने बताया कि जैसे ही एहसास हुआ कि विमान से चील टकराई है, सभी यात्री घबरा गए। सभी प्रार्थना कर रहे थे कि विमान की सकुशल लैंङ्क्षडग हो जाए। विमान के रन वे पर उतरते ही सभी ने राहत की सांस ली। एयरपोर्ट के एक अधिकारी ने बताया कि विमान के उड़ान भरते ही पायलट ने देखा कि एक चील टकराई है। पायलट ने उनसे बताया कि वह तो पहले घबरा गया था। बाद में उसने एक सेकेंड के अंदर ही हिम्मत जुटाई और विमान की इमरजेंसी लैंडिंग की।

लाउंज में किया गया खाने-पीने का इंतजाम

हादसा होते ही रांची एयरपोर्ट के निदेशक विनोद कुमार शर्मा रनवे पर पहुंचे। सभी यात्रियों को लाउंज में बैठाया गया और उनके खाने-पीने का भी इंतजाम किया गया। निदेशक विनोद ने बताया कि उनके बर्ड चेजर पूरी तरह मुस्तैद थे। लेकिन बरसात में एयरपोर्ट पर बर्ड आने का खतरा ज्यादा होता है। क्योंकि बरसात में कीड़े मकोड़े आ जाते हैं।

हादसे की होगी जांच

रांची एयरपोर्ट के निदेशक ने कहा कि हादसा कैसे हुआ, इसकी जांच कराई जाएगी। रांची एयरपोर्ट पर 6 बर्ड चेजर तैनात थे। जोन गन भी तैनात हैं। दिन भर में जोन गन 150 दफा फायर भी करती है। इसके बाद भी चील विमान के सामने आ गई।

पिछले साल भी हुआ था बर्ड हिट

रांची के बिरसामुंडा एयरपोर्ट पर बर्ड हिट की घटना पहले भी होती रही हैं। पिछले साल आठ अगस्त को एयर एशिया का मुंबई जा रहा विमान रनवे पर ही चील से टकरा गया था। इसके इंजन से धुंआ भी निकल गया था। तब एयर एशिया के विमान पर 170 यात्री सवार थे। सभी बाल बाल बच गए थे।

Edited By: Kanchan Singh