जागरण संवाददाता रांची : अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर रांची विश्विद्यालय की इंटरनल कमेटी (महिला कोषांग) एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के संयुक्त प्रयास से आरयू मुख्यालय में महिला समानता को लेकर जागरूकता रैली निकाली गई। रैली के पूर्व एक सभा का आयोजन किया गया। सभा की अध्यक्षता कुलपति डा. कामिनी कुमार ने की। मुख्य अतिथि रांची की महापौर आशा लकड़ा ने कहा कि आज महिलाएं समाज के हर क्षेत्र में स्वाभाविक रूप से नेतृत्व एवं प्रबंधन संभाल रही हैं। मां का योगदान अतुल्य है एवं सभी को मां का सम्मान करना चाहिए। कुलपति डा. कामिनी कुमार ने कहा कि भारत में महिला - पुरुष का अनुपात में 1000 पुरुष पर 930 महिला है जो गंभीर चिता का विषय है। उन्होंने कन्या भ्रूण हत्या को अभिशाप बताते हुए कहा कि इसको सरकारी एवं सामाजिक स्तर पर निश्चित प्रतिबंध लगाने की आवश्यकता है। उन्होंने समाज में महिला स्वावलंबन हेतु सकारात्मक प्रयास करने की अपील की। रांची विश्वविद्यालय की इंटरनल कमेटी (वीमेन सेल) की पीठासीन पदाधिकारी डा. रेणु दीवान ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2021 का थीम महिलाओं का नेतृत्व : कोविड के दौर में समान भविष्य का निर्माण पर चर्चा करते हु महिला दिवस की महत्ता पर प्रकाश डाला। संचालन एनएसएस कार्यक्रम समन्वयक डा. ब्रजेश कुमार एवं इंटरनल कमेटी की सदस्य सचिव डा. स्मृति सिंह ने संयुक्त रूप से किया। धन्यवाद ज्ञापन डीएसडब्ल्यू डा. पीके वर्मा ने किया। सभा के पश्चात जागरूकता रैली को महापौर आशा लकड़ा एवं कुलपति डा. कामिनी कुमार ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। आरयू मुख्यालय से रैली प्रारंभ होकर एल्बर्ट चौक (फिरायालाल चौक), सर्जना चौक, शहीद चौक होते हुए पुन: विश्वविद्यालय मुख्यालय परिसर में समाप्त हुई। रैली के पश्चात विवि के सीनेट हॉल में परफार्मिंग एंड फाइन आ‌र्ट्स विभाग की छात्र-छात्राओं ने दुर्गा शक्ति, नृत्य नाटिका (कोविड 19 महामारी में महिला की भूमिका) विषय पर नृत्य की प्रस्तुति दी। कोरियोग्राफर की भूमिका विपुल नायक एवं शालीना ने निभाई।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021