रांची, जेएनएन। Diesel Petrol Prices प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा है कि चार राज्यों में चुनाव खत्म होने के बाद केंद्र सरकार ने 60 दिनों तक पेट्रोल डीजल में दस से 15 रुपये और और गैस सिलेंडर में 390 रुपये की बढ़ोतरी की और अब एक्साइज ड्यूटी को लेकर पेट्रोल में 8 रुपये तथा डीजल में 6 रुपये के साथ-साथ उज्ज्वला के लाभुकों के लिए सिलेंडर में 200 रुपये कम करके केंद्र सरकार अपना गाल बजा रही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा लोगों को कब तक भ्रमजाल में फंसाकर रखेगी। यह व्यावसायिक माल में दिये जाने वाले छूट की तरह है, जिसमें क़ीमतों में बढ़ोतरी कर छूट दी जाती है और भोली भाली जनता लुट जाती है।ये राहत चार दिन की चांदनी, फिर अंधेरी रात वाली कहावत साबित होगी। हम ये भूल रहे हैं कि चार राज्यों में होने वाले चुनाव के पूर्व 31 जनवरी 2022 को 85 रुपये में मिलने वाले पेट्रोल को 110 रुपये देकर ख़रीद रहे थे और 8 रुपये की छुट देने का नाटककर खुश हो रहे हैं।

पेट्रोल 9.50 रुपए, 7 रुपए डीजल के दाम घटे तो सबके चेहरे पर खिल गई मुस्‍कान

लगातार बढ़ रही महंगाई के बीच पेट्रोल डीजल की कीमत कम होने की खबर ने आम आवाम को राहत दी है। दरअसल पेट्रोल डीजल की कीमत महंगाई से सीधे तौर पर जुड़ी है और इसकी कीमत कम होने से बेशक खाद्य सामग्री समेत अन्य ट्रांसर्पोटेशन के कार्यों पर असर पड़ेगा। बेदम हो चुके बाजार के लिए यह घोषणा किसी संजीवनी से कम नहीं है। केंद्र सरकार ने पेट्रोल की कीमत 9.5 रुपए जबकि डीजल की कीमत 7 रुपए प्रति लीटर तक घटाने का निर्णय लिया है।

इसके अलावे उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर पर भी 200 रुपए की सब्सिडी मिलेगी। इसके तहत योजना के करीब नौ करोड़ लाभार्थियों को 12 सिलेंडर तक सब्सिडी दी जाएगी। केंद्र सरकार की यह घोषणा उस वक्त आई जब पूरा विश्व उथल पुथल के दौर से गुजर रहा है और रुस यूक्रेन वार की वजह से महंगाई का रोना रोया जा रहा है। दुनिया भर में पेट्रोल डीजल और गैस की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है। वहीं देश में नरेंद्र मोदी सरकार ने पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर न सिर्फ नियंत्रण रखा है बल्कि एक्साइज ड्यूटी में बड़े पैमाने पर कटौती कर देश के लोगों को बड़ी राहत दी है। पेट्रोल डीजल में एक्साइज ड्यूटी की कमी और गैस की कीमतों में कटौती से न सिर्फ पेट्रोल डीजल की कीमतों में बड़े पैमाने पर गिरावट आएगी बल्कि इससे व्यापारी, गांव, गरीब, किसान, मजदूर और वंचित लोगों को सबसे ज्यादा फायदा होगा।

झारखंड पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष अशोक सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी में कटौती एक स्वागतयोग्य कदम है। इससे आम जनता को बहुत राहत होगी। झारखंड सरकार भी वैट दर में कटौती कर आमजनों को राहत दे। पिछले 30 माह से वैट में कमी की मांग राज्य सरकार से पेट्रोलियम डीलर कर रहे हैं। पूर्व में नवंबर माह में भी केंद्र सरकार ने एक्साइज दर में कटौती की थी तब बिहार, ओड़िसा, बंगाल, उत्तर प्रदेश ने भी वैट दर में कटौती कर आम जनता को राहत दी थी। झारखंड सरकार से मांग है कि डीजल पर वैट 22 प्रतिशत से घटाकर 17 प्रतिशत करे एवं पेट्रोल को अधिकतम 17 रुपए प्रति लीटर से घटाकर 15 रुपए प्रति लीटर करे।

सभी वर्गों काे मिलेगी राहत

केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल डीजल की कीमतों में कटौती का निर्णय स्वागतयोग्य है। यह निर्णय बहुत पहले ही होना चाहिए था। महंगाई जिस स्तर पर पहुंच गई है अब आमलोग क्या संपन्न लोग भी परेशान हो रहे हैं। पेट्रोल डीजल की कीमतों का प्रभाव सभी लोगों पर पड़ता है। इसलिए इस कटौती से सभी वर्ग के लोगों को थोड़ी राहत अवश्य मिलेगी। धीरज तनेजा, अध्यक्ष, फेडरेशन आफ झारखंड चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज, रांची।

वैट घटाकर झारखंड सरकार दे राहत

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम होने के बावजूद केंद्र और राज्य सरकार द्वारा वसूले जा रहे भारी भरकम टैक्स के कारण पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम दिन प्रतिदिन आम आदमी के लिए सिर दर्द बनते जा रहे हैं। ऐसे में केंद्र सरकार ने पेट्रोल में 9.5 रुपए, डीजल में 7 रुपए और एलपीजी में 200 रुपए कटौती कर ट्रांसपोर्टर्स के साथ ही आम आदमी को बड़ी राहत दी है। झारखंड सरकार भी वैट घटाकर लोगों को महंगाई से राहत दे। अनीश बुधिया, परिवहन व्यवसायी, रांची।

स्वागतयोग्य है यह फैसला

केंद्र सरकार के द्वारा पेट्रोल डीजल की कीमत को घटाने का निर्णय लिया जाना बेशक स्वागतयोग्य है। खाद्य सामग्रियों की कीमत में कमी आएगी। इससे समाज का हर तबका लाभान्वित होगा। खासकर व्यापारी व आम आवाम को इस निर्णय का भरपूर लाभ मिलेगा। बाजार में गति आएगी। डा राजकुमार शर्मा, डीएसडब्ल्यू, रांची यूनिवर्सिटी रांची।

सरकार की सराहनीय पहल

पेट्रोल डीजल की कीमत में कमी लाकर केंद्र सरकार ने यह दर्शाया है कि जब पूरा विश्व युद्ध व अन्य आपदाओं से परेशान है तो हमारे देश में पेट्रो उत्पादों की कीमत में कमी लाई जा रही है। यह सुखद व सराहनीय पहल है।: कंजीव लोचन, प्राध्यापक सह प्रभारी प्रकाशन विभाग, आरयू, रांची।मिलेगी राहत :केंद्र सरकार के इस फैसले से बेशक सभी वर्गों को राहत मिलेगी। महंगाई पर अंकुश लगेगा और खाद्य सामग्रियों की कीमत में कमी आएगी।  सुशील आर्य, निवासी, रांची।

सही निर्णय

केंद्र सरकार का यह बिल्कुल सही निर्णय है। पेट्रो उत्पादों की कीमत बढ़ने से महंगाई पर चरम पर है। केंद्र सरकार ने महंगाई पर अंकुश लगाने के लिए सही निर्णय लिया है। हेमंत पांडेय, निवासी, रांची।

मोदी सरकार को हर वर्ग की चिंता है। पेट्रोलियम उत्पाद के मूल्य में कमी से महंगाई में कमी आयेगी। आमलोगों के यह राहत भरी खबर है। आमलोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। विपक्ष की बातों पर ध्यान न दें। आशीष आनंद

पेट्रोल के कीमत में और कमी की आवश्यकता है। कामकाज करने वाले युवकों को प्रतिमाह बाइक में चार-पांच हजार रुपये पेट्रोल पर खर्च हो जाता है। सरकार का यह सराहनीय कदम है। सिर्फ बीपीएल कार्ड धारियों के एलपीजी के मूल्य में कमी की गई जबकि सामान्य श्रेणी में भी कमी आनी चाहिए। आशुतोष सिंह

रसोई गैस की महंगाई से किचन का बजट गड़बड़ हो गया है। सरकार ने सिर्फ उज्जवला योजना वालो के गैस के मूल्य में ही कमी की है। जबकि परेशान सभी है। सरकार सामान्य श्रेणी की भी चिंता करें। एलपीजी का मूल्य घटाए। रूबी सिंह

Edited By: Alok Shahi