रांची, जासं। रिम्स के पेइंग वार्ड में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद से मिलने शनिवार को उनकी पुत्री रोहिणी यादव और दामाद समरेश सिंह के साथ राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी पहुंचे। उन्होंने कहा कि लालू जी की स्थिति अभी बेहतर नहीं है। उन्हें और बेहतर इलाज की जरूरत है, जो यहां नहीं मिल पा रहा है। प्रशासन और रिम्स प्रबंधन पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि अस्पताल में उनका इलाज ठीक ढंग से नहीं हो रहा है।

उनके कमरे के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिसका कोई मतलब नहीं बनाता है। पेइंग वार्ड में मेडिसिन के डॉ. उमेश प्रसाद की देखदेख में लालू का इलाज किया जा रहा है। रोहिणी ने पिता के साथ किया भोजन लालू प्रसाद से मिलने शनिवार को बेटी रोहिणी यादव, दामाद समरेश सिंह और राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी सुबह के 10:30 बजे रिम्स पहुंचे। प्रवेश करने के बाद करीब पांच घंटे तक रोहिणी यादव अपने पिता के साथ रहीं।

सभी ने साथ भोजन किया। लालू प्रसाद की हालत पूछने पर रोहिणी ने कहा कि इस सवाल की जानकारी डॉक्टर देंगे। ज्ञात हो कि रोहिणी आचार्य लालू की दूसरी बेटी हैं। ये एमबीबीएस डॉक्टर हैं और अपने सॉफ्टवेयर इंजीनियर पति समरेश सिंह व तीन बच्चों के साथ सिंगापुर में रहती हैं। मोदी सही उम्मीदवार नहीं शिवानंद तिवारी ने बिहार की राजनीतिक स्थिति को काफी खराब बताया।

उन्होंने कहा कि मोदी देश के लिए सही उम्मीदवार नहीं हैं। यूपी में भी महागठबंधन देखा जा सकता है। मायावती और अखिलेश मिल जाएं, तो नरेंद्र मोदी को यूपी में जीत के लिए सोचना होगा। जेल में मनी थी लालू की होली, अब रिम्स में मनेगा दशहरा रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती लालू प्रसाद की स्थिति फिलहाल ठीक है। शुगर लेवल में भी उतार चढ़ाव कंट्रोल में है।

इससे किडनी और अन्य बीमारियों से जूझ रहे लालू प्रसाद को राहत मिली है। खास बात यह है कि इस बार जेल में होली मनाने के बाद अब लालू रिम्स में दशहरा मनाने की तैयारी कर रहे हैं। पर्व-त्योहारों को खास अंदाज में मनाने के लिए जाने जाने वाले लालू इस दशहरे में अपने परिजनों व संगी-साथियों को मिस करेंगे, लेकिन रिम्स में भी समर्थक उनके दशहरे को खास बनाना चाहते हैं।

सूत्रों की मानें तो लालू को इस बार कलश स्थापना कर देवी उपासना नहीं करा पाने का अफसोस है, फिर भी मिलने आने वाले समर्थकों से उन्होंने दशहरा खास अंदाज में मनाने को कहा है। रिम्स में भी समर्थकों संग सादे अंदाज में दशहरा मनाने की तैयारी है। समर्थकों ने भी कहा है कि वह लालू को घर की कमी महसूस नहीं होने देंगे। उधर लालू को पहले से चक्कर आने की समस्या भी कम हुई है।

इलाज कर रहे डॉक्टर उमेश प्रसाद ने बताया कि डॉक्टर लालू पर लगातार नज़र रखे हुए हैं। इलाज के सिलसिले में एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट से भी सलाह ली जाती रही है। एक सप्ताह पहले तक ब्लड शुगर में लगातार उतार चढ़ाव की समस्या से लालू परेशान थे। उन्हें दो-तीन बार चक्कर भी आया था, जिससे वे गिरते गिरते भी बचे थे। डॉक्टरों का कहना है कि पुराने डायबिटीज में ऐसा होना सामान्य बात है। कोई विशेष चिंता की बात नहीं।