रांची, जासं। अपराह्न तीन बजे एक बुजुर्ग बेसब्री से एयरपोर्ट पर अपनी बेटी शालिनी के आने का इंतजार कर रहे थे। 3:12 बजे इंडिगो का हैदराबाद-रांची विमान बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पहुंचा और कुछ देर बाद एक महिला यात्री ट्रॉली बैग के साथ एयरपोर्ट टर्मिनल के बाहर आई। बेटी को देखते ही बुजुर्ग व्यक्ति आगे बढ़ा। बेटी अपने पिता को समीप देख चरण स्पर्श करने के लिए आगे बढ़ी, लेकिन बुजुर्ग पिता ने अपने पांव पीछे खींच लिए। बेटी जब तक कुछ समझ पाती पिता ने कहा रहने दो बेटा, चलो अब घर चलें। फिर बेटी अपने पिता के साथ कार पार्किंग की ओर चल पड़ी।

ड्राइवर ने कार की डिक्की खोली और बेटी ने स्वयं कार की डिक्की में अपना सामान रखा। फिर पिता ने कार की पीछे वाली सीट पर बेटी को बैठने के लिए इशारा किया और खुद आगे की सीट पर बैठ गए। पिता ने संकेत में ही कोरोना के संक्रमण को देखते हुए बेटी को सबकुछ बयां कर दिया। फिर बेटी के कार में बैठते ही कार पार्किंग क्षेत्र से कार निकल पड़ी। इधर, मंगलवार की सुबह इंडिगो के विमान से मुंबई से रांची आने वाले यात्रियों ने बताया कि वे बोर्डिंग के लिए सुबह तीन बजे ही मुंबई एयरपोर्ट पहुंच चुके थे। हालांकि एयरपोर्ट पर काफी गर्मी थी, जिसके कारण उन्हें काफी परेशानी हुई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस