रांची, जेएनएन। Cyclone Fani  - फणि तूफान का असर झारखंड में भी व्‍यापक रूप से दिखा। शुक्रवार को रांची, जमशेदपुर, सिंहभूम, खूंटी, सिमडेगा में इसके प्रभाव से जोरदार बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार सुबह 5 बजकर 30 मिनट तक जमशेदपुर में सर्वाधिक  रिकार्ड 64.2 एमएम बारिश हुई। वहीं रांची में 16.8 एमएम बारिश दर्ज की गई। प्रदेश के कुछ अन्य जिलों में भी छिटपुट बारिश हुई। हालांकि, ओडिशा में आए इस चक्रवाती तूफान के झारखंड, बिहार होते हुए बांग्‍लादेश की ओर बढ़ जाने की जानकारी मौसम विभाग ने दी है। इससे घबराए लोगों ने राहत की सांस ली।

पलामू के हैदर नगर में शुक्रवार की सुबह आंधी से छत की दीवार गिर गई जिससे 18 वर्षीय सविता कुमारी की मौत हो गई। तूफान में कई पेड़ भी गिर गए हैं। पलामू में हुई मौत के अलावा देर रात तक कहीं से बड़े नुकसान की खबर नहीं है। बारिश ने तपती गर्मी से लोगों को राहत दी है। रांची में अधिकतम तापमान में 11 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। यहां अधिकतम तापमान 35.8 से लुढ़ककर 26.7 पर आ गया।

मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार देर रात से शनिवार की सुबह पूर्वी सिंहभूम में चक्रवातीय तूफान का असर अधिक रहा। इसके अलावा सरायकेला-खरसांवा, पश्चिमी सिंहभूम का पूर्वी भाग, खूंटी व सिमडेगा भी प्रभावित हुआ। संताल परगना के इलाके में भी जोरदार बारिश और आंधी की संभावना शनिवार को भी बनी रही। शुक्रवार को रांची व आसपास के क्षेत्रों में हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश हुई। 50 से 60 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं। 

बंद रहे स्कूल, परीक्षाएं स्थगित
तूफान को लेकर रांची, खूंटी जमशेदपुर, धनबाद समेत राज्य के 13 जिलों में स्कूलों को पूर्व में ही बंद रखने का आदेश जारी हो गया था। ऐसे में बच्चे दिन भर घरों में ही रहे। कई सरकारी दफ्तरों में आम दिनों की अपेक्षा काफी कम संख्या में अधिकारी व कर्मचारी पहुंचे। शाम पांच बजते ही अधिकतर सरकारी कार्यालयों में सन्नाटा पसर गया।

सिदो कान्हु विश्वविद्यालय ने चार मई को होने वाली बीएड परीक्षा को स्थगित कर दिया है। वहीं बीबीएमकेयू विश्वविद्यालय धनबाद की बीएड व एमबीबीएस की परीक्षा स्थगित कर दी गई है। ओडिशा की ओर जाने वाली व आने वाली ट्रेनों का दो दिन यानी तीन मई व चार मई को परिचालन बंद है। 

चुनाव प्रचार पर भी असर
तूफान का असर लोकसभा चुनाव पर भी पड़ा है। लगातार बारिश और तूफान की आशंका से नेताओं की चुनावी सभा स्थगित कर दी गई, तो उम्मीदवारों ने भी प्रचार-प्रसार नहीं किया। तीन मई को जमशेदपुर में होने वाली उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सभा पहले ही स्थगित कर दी गई थी।

शुक्रवार को झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पटमदा में होने वाली चुनावी सभा स्थगित कर दी। जमशेदपुर व सिंहभूम संसदीय क्षेत्र में भी नेताओं-उम्मीदवारों ने प्रचार या जनसंपर्क नहीं किया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस