तुपुदाना (रांची), जासं। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानि सीआरपीएफ का स्थापना दिवस रांची के ग्रुप केंद्र सेबों में कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए मनाया गया। सर्वप्रथम सीआरपीएफ कर्मियों के द्वारा शानदार परेड और सलामी का कार्यक्रम हुआ। इस दौरान सीआरपीएफ के जांबाज सिपाहियों के बलिदान को याद किया गया। मौके पर शहीद स्मारक पर सीआरपीएफ के महानिरीक्षक राजीव सिंह ने पुष्प चक्र अर्पित किया। शहीद सिपाहियों के सम्मान में सलामी देकर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

इस मौके पर उपस्थित सीआरपीएफ कर्मियों को संबोधित करते हुए महानिरीक्षक राजीव सिंह ने कहा कि सीआरपीएफ का गौरवशाली इतिहास रहा है। जब-जब देश को जरूरत हुई है, सीआरपीएफ कर्मियों ने आगे बढ़कर देश की सुरक्षा-व्यवस्था और शांति को लेकर अपना बलिदान दिया है। भारत के दुश्मनों के साथ जब भी युद्ध हुआ है, सीआरपीएफ ने बहादुरी के साथ देश के दुश्मनों के दांत खट्टे किए हैं। आज सीआरपीएफ अपना 83वां स्थापना दिवस मना रहा है। इस अवसर पर सीआरपीएफ कर्मियों ने अपने देश के लिए जो बलिदान दिया है, उन शहीदों के बलिदान को आज याद करने का दिन है।

महानिरीक्षक राजीव सिंह ने ग्रुप केंद्र सेबों में स्थापना दिवस के अवसर पर विभिन्न कंपनियों के बीच वाॅलीबॉल मैच का उद्घाटन भी किया। साथ ही साथ सीआरपीएफ के द्वारा आयोजित पौधरोपण कार्यक्रम में भी शामिल हुए। सीआरपीएफ के भोजनालय में स्थापना दिवस के अवसर पर बड़ा खाना का आयोजन किया गया था। इसमें सीआरपीएफ कर्मियों के साथ महानिरीक्षक, उपमहानिरीक्षक बिशन स्वरूप शर्मा, सुनील सिंह सहित सभी लोग उपस्थित रहे।

Edited By: Sujeet Kumar Suman