रांची, जेएनएन। दुनिया के कई देशों में लाखों लोगों को अपनी चपेट में ले चुका कोरोना वायरस को लेकर देशभर में खौफ और दहशत का माहौल है। अब तक हजारों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं, जबकि रोज हजारों की तादाद में लोग इसके संक्रमण की जद में आ रहे हैं। वैश्विक महामारी बने कोरोना वायरस को लेकर भारत में दूसरे चरण बीत जाने के बाद अब तीसरे चरण में लड़ने की तैयारी की जा रही है। अब तक देश के अलग-अलग राज्‍यों में 75 जानें जा चुकी हैं, जबकि 3000 से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। शनिवार को दिनभर में 13 लोगों की मौत हुई है।

डॉक्‍टरों की मानें तो कोरोना वायरस, कोविड-19 का जिस तेजी से फैलाव हो रहा है, उससे अधिक सतर्कता बरतना और ज्‍यादा जरूरी हो गया है। हालांकि हम अतिरिक्‍त सावधानियां और एहतियात बरतकर इस महामारी के प्रभाव से बच सकते हैं। इस बीमारी से हमें कतई घबराना नहीं चाहिए। डॉक्‍टर अभिषेक कुमार कहते हैं कि कोविड19 वायरल संक्रमण है, जिससे किसी भी उम्र का कोई भी व्‍यक्ति कभी भी और किसी भी स्‍थान पर संक्रमित हो सकता है। 

डॉक्‍टर ने बताया कि कोरोना से संक्रमित होने से बचने के लिए सा‍माजिक दूरी बनाना बेहद जरूरी है। हालांकि इससे जाने-अनजाने संक्रमित होना कोई सामाजिक बुराई नहीं है। ऐसे में दूर-देश, महानगरों या भारत के दूसरे राज्‍यों से आने वाले लोगों को एहतियात के तौर पर खुद ही 14 दिनों के क्‍वारंटाइन में रहना चाहिए। बाहर से आने वाले लोगों में संक्रमण का कोई लक्षण दिखे, जैसे सर्दी, खांसी या बुखार की शिकायत हो तो तुरंत नजदीकी कोरोना अस्‍पताल में डॉक्‍टरों से इलाज कराना चाहिए।

डॉक्‍टर अभिषेक बताते हैं कि सरकार के स्‍तर पर अधिकतर अस्‍तपालों में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए विशेष तौर पर आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। यहां कोविड-19 के संक्रमण से बीमार हुए मरीजों की बेहतर देखरेख की जाती है। संक्रमण से बचने के लिए यह भी जरूरी है कि अपने पास-पड़ोस में जिस किसी व्‍यक्ति में कोरोना का लक्षण दिखे, उसके बारे में स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को जरूरी तौर पर सूचना दी जानी चाहिए।

डॉक्‍टर ने कहा कि अब तक जितने देशों में कोरोना का संक्रमण हुआ है, वहां आइसोलेशन को संक्रमण से बचाव का बेहतर तरीका के तौर पर अपनाया गया है। सोशल डिस्‍टेंसिंग से इसका फैलाव रोकने में खासी मदद मिलती है। लॉक डाउन का पालन कर हम घर में रहकर सामाजिक दूरी बना सकते हैं। सार्वजनिक स्‍थानों पर जाने से परहेज करना चाहिए। मास्‍क और सेनिटाइजर का प्रयोग जरूर करना चाहिए। इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाने के लिए योगासन के साथ ही नियमित व्‍यायाम करना चाहिए। विटामिन सी युक्‍त फलों के अलावा दूध और हरी सब्जियां भी भोजन में पर्याप्‍त रूप से शामिल कर हम कोरोना से लड़ सकते हैं।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस