रांची, जेएनएन। Nizamuddin Markaz कोरोना वायरस महामारी की राजधानी रांची में दस्‍तक के बाद जाने-अनजाने तब्‍लीगी जमात के सैंकड़ों लोगों की झारखंड में इंट्री हो गई है। जिन्‍हें पकड़ने के लिए बुधवार को अलग-अलग शहरों के मस्जिदों में दिनभर ताबड़तोड़ छापे मारे गए। पाकुड़, साहिबगंज, धनबाद, सिमडेगा, लोहरदगा आदि शहरों में मस्जिदों में छिपे अब तक करीब चालीस लोगों को हिरासत में लेकर क्‍वारंटाइन किया गया है।

दिल्ली में तब्लीगी मरकज में शामिल होने वाले लोगों की हर शहर में खोजबीन शुरू हो गई है। इसी क्रम में साहिबगंज, बोकारो, गोड्डा, गुमला, हजारीबाग में पुलिस इनकी खोज में लगी है। साहिबगंज और बोकारो में तीन-तीन लोगों की जांच हुई है जो मरकज में शामिल होकर लौटे हैं। दिल्ली में हुए तब्लीगी मरकज में कई लोगों में कोरोना की पुष्टि होने पर सतर्कता बरती जा रही है। सोमवार को राज्य मुख्यालय से पुलिस महानिरीक्षक और मुख्य सचिव की संयुक्त वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद ऐसे लोगों की पहचान के लिए पुलिस सक्रिय हुई है।

गोड्डा एसपी शैलेंद्र प्रसाद वर्णवाल ने बताया कि जिले के तमाम मुस्लिम धर्मगुरुओं और समाजसेवियों से अपील की है कि वे ऐसे लोगों की पहचान में पुलिस को सहयोग करें। सूचना देने वालों के नाम और पता गोपनीय रहेंगे। मरकज में भाग लेने के लिए छह लोग गुमला से गए थे। इसकी पुष्टि एसपी अंजनी कुमार झा ने की है। बोकारो में जिन तीन लोगों के नमूने लिए गए हैं उन्हें समेत 14 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। ये 40 दिन के लिए बोकारो दौरे पर आए थे। तभी लॉकडाउन हो गया। ये सभी मौलवी हैं।

झारखंड पुलिस को तब्लीगी जमात में शामिल 36 लोगों की तलाश

नई दिल्ली के निजामुद्​दीन में तब्लीगी जमात (धार्मिक सम्मेलन) के बाद लगातार हो रही कोरोना पीड़ितों व मृतकों की सूचना ने पूरे देश में खलबली मचा दी है। इस सम्मेलन में शामिल होने के लिए गए झारखंड के 36 लोगों की सूची भी झारखंड पुलिस को मिली है, जिनकी खोज जारी है। नई दिल्ली से झारखंड पुलिस को जो सूची मिली है, उसमें केवल धार्मिक सम्मेलन में शामिल होने वाले का नाम, जिला व उनका मोबाइल नंबर है। झारखंड पुलिस उनके नाम का सत्यापन कर रही है।

पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसएसपी-एसपी को यह निर्देश दिया है कि पिछले सात दिनों के भीतर नई दिल्ली स्थित उक्त कार्यक्रम में शामिल होकर लौटने वाले इन व्यक्तियों का पता लगाएं और उनका जांच कराएं। उस कार्यक्रम में कोरोना के संक्रमण की बात सामने आई है, इसलिए उक्त कार्यक्रम में शामिल होने वालों की जांच बेहद जरूरी है। इसके साथ ही उन सभी लोगाें पर निगरानी रखने और विशेष सतर्कता बरतने की बात कही गई है। यह भी पता लगाने को कहा गया है ये 36 व्यक्ति और किस-किससे मिले हैं, इसका भी पता लगाएं।

क्वारेंटाइन सेंटर से कोई भागे नहीं, पर्याप्त बल उपलब्ध कराएं

झारखंड पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसपी को विशेष निर्देश दिया है कि क्वारेंटाइन सेंटर से कोई भागे नहीं, इसका ख्याल रखें। इसके लिए जिलों को विशेष बल भी तैनात करने का आदेश दिया गया है। पुलिस मुख्यालय को सूचना मिली है कि क्वारेंटाइन कैंप में जिन्हें रखा जा रहा है, वे भाग जा रहे हैं। सभी एसपी को कहा गया है कि यह भविष्य के लिए घातक है। ऐसा नहीं होना चाहिए। सख्ती के साथ उन्हें क्वारेंटाइन में रखने की व्यवस्था करें।

नई दिल्ली स्थित धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले 36 लोग

  1. बोकारो : मौलाना ओमर मोहम्मद, जिला समन्वयक।
  2. चतरा : मौलाना वाहाजुल हक व मौलाना अबु दरदा।
  3. देवघर : मोहम्मद तनवीर व मोहम्मद अब्बास।
  4. धनबाद : जियाउर रहमान, मतलूब आलम, इम्तियाजुल हक, मोहम्मद अफताब (कतरास), मोहम्मद असलम (कतरास), आबिद हुसैन (गोविंदपुर), मोहम्मद साबिर (गोविंदपुर), मोहम्मद हासिम (गोमो) व मोहम्मद सरताज (गोमो)।
  5. दुमका : मोहम्मद फारूख।
  6. पूर्वी सिंहभूम : हाजी मोहम्मद इस्लाम व हाजी मोहम्मद ताहिर।
  7. गढ़वा : मौलवी अबु हुदेरा।
  8. गिरिडीह : मोहम्मद कुवैश।
  9. गोड्डा : मोहम्मद अमीर।
  10. गुमला : हाजी मन्नान।
  11. हजारीबाग : मोहम्मद रिजवान उर्फ राजा।
  12. जामताड़ा : मौलाना रजाउद्​दीन।
  13. खूंटी : मोहम्मद रियाज अंसारी।
  14. कोडरमा : हाजी लियाकत अली।
  15. लातेहार : मोहम्मद फहीम।
  16. लोहरदगा : मोहम्मद तहसीन।
  17. पाकुड़ : मोहम्मद आलम।
  18. पलामू : मोहम्मद हसीम।
  19. रामगढ़ : मौलाना वाजिद अली।
  20. रांची : मोहम्मद आरिफ खान, मोहम्मद नदीम खान व मोहम्मद अरमान।
  21. साहिबगंज : मोहम्मद शकील रेन।
  22. सरायकेला-खरसांवा : औरंगजेब अंसारी।
  23. सिमडेगा : मौलाना शाहीद घड़ीवाले।
  24. पश्चिमी सिंहभूम : अख्तर उल अमन।

रांची पहुंचा कोरोना, हिंदपीढ़ी में कर्फ्यू

एक मस्जिद में ठहरी मलेशिया की महिला संक्रमित निकली, तब्लीगी मरकज में शामिल होकर आई थी। कोरोना के मैप में अब झारखंड भी लाल हो गया है। मंगलवार को राज्य में इसका पहला पॉजिटिव केस मिला। रांची के हिंदपीढ़ी स्थित मस्जिद में ठहरी मलेशिया की महिला में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हो गई है। मलेशिया की यह महिला उसी टीम में शामिल थी जिसे रांची पुलिस ने सोमवार को हिंदीपीढ़ी स्थित मस्जिद से पकड़ा था। यह टीम तब्लीगी मरकज से जुड़ी है जो इस्लाम धर्म के प्रचार-प्रसार के लिए रांची आई हुई थी। रांची जिला प्रशासन ने हिंदपीढ़ी क्षेत्र में कफ्र्यू लगा दिया है।

तब्लीगी मरकज से जुड़े 24 सदस्य सोमवार को रांची के एक मस्जिद और उसके पास के घर से पकड़े गए थे। इनमें 17 विदेशी थे। इन सभी को होटवार स्थित खेलगांव के एक स्टेडियम में क्वारंटाइन कर रखा गया था। इस दौरान इस महिला में कोरोना के लक्षण मिलने पर उसके स्वाब की जांच कराई गई जिसमें संक्रमण होने की बात सामने आई। महिला को रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद टीम के अन्य 23 लोगों की जांच फिर से की जाएगी। पहली बार इनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। 

राजधानी के बी-1 कोच से आई थी महिला, होगी सभी की जांच

मलेशिया की कोरोना संक्रमित महिला बीते राजधानी एक्सप्रेस के बी-1 कोच से रांची आई थी। अब इस कोच में सफर कर रहे सभी 65 यात्रियों की पहचान की जा रही है। सभी यात्रियों की जांच होगी। राज्य सरकार ने उक्त कोच में सफर करनेवाले सभी यात्रियों से जांच कराने की अपील की है। 

5 किमी परिधि में रहनेवाले सभी लोगों की होगी जांच

जिस मस्जिद या कमरे में कोरोना संक्रमित विदेशी महिला ठहरी थी उसके पांच किलोमीटर की परिधि में रहने वाले सभी लोगों की प्राथमिक स्वास्थ्य जांच होगी। सर्दी, खांसी या बुखार के किसी प्रकार के लक्षण मिलने पर उन्हें आइसोलेशन में रखा जाएगा और उनके स्वाब की जांच की जाएगी ताकि कोरोना के होने की पुष्टि हो सके। 

20 से अधिक टीमें जांच में लगाई गईं

उपायुक्त उपायुक्त राय महिमापत रे ने बताया 20 से अधिक टीम जांच में लगाई गई हैं, जो यह बताएंगी कि पूरे हिंदपीढ़ी मोहल्ले में महिला कहां-कहां घूमी थी और किन-किन लोगों से मुलाकात की थी। अभी तक 5 घरों में उसके जाने की सूची मिली है और उन सभी को 14 दिन के लिए होम क्वारेंटाइन में रखा जाएगा। 

रांची उपायुक्त ने नंबर किया जारी

रांची के उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी राय महिमापत रे ने अपील की है कि जो व्यक्ति 16 मार्च 2020 को दिल्ली से राजधानी एक्सप्रेस के बी-1 कोच में सफर कर 17 मार्च को रांची पहुंचे हैं, वह इसकी सूचना जिला प्रशासन को दें और आवश्यक रूप से अपनी जांच कराएं। इसके लिए 1950 या 9431708333 नंबर पर जानकारी दें। 

झारखंड का पहला कोरोना पॉजिटिव केस मिला है। मलेशिया से आई महिला में संक्रमण पाया गया है। उसे रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। अब हमारी चुनौती और बढ़ गई है। राज्य के लोगों को भी अब और सख्ती से लॉकडाउन का पालन करना होगा। बन्ना गुप्ता,   मंत्री, स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस