रांची, जेएनएन। Coronavirus Update झारखंड में कोरोना वायरस ने जान लेना शुरू कर दिया है। बोकारो के गोमिया के एक कोराना पॉजिटिव मरीज की बुधवार देर रात मौत हो गई। इसके साथ ही कोरोना के नौ पॉजिटिव केस भी डिटेक्‍ट किए गए हैं। इस तरह अबतक राज्‍य में कुल 14 कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान की गई है। राजधानी रांची में अब तक सर्वाधिक सात कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। जबकि बोकारो में कुल पांच लोगों की पहचान कोरोना पॉजिटिव के रूप में की गई है। हजारीबाग में भी कोरोना संक्रमित एक मरीज को आइसोलेशन में भर्ती किया गया है। इस मरीज की तबीयत भी गुरुवार को अचानक बेहद खराब हो गई।

झारखंड में कोरोना मरीज की मौत से हाहाकार मच गया है। बीती रात एक साथ 9 कोरोना पॉजिटिव केस मिलने से नीचे से ऊपर तक हड़कंप मच गया। राज्य में बुधवार देर रात कोरोना वायरस के नौ पॉजिटिव मामले सामने आए। जिसमें से बोकारो के एक संक्रमित मरीज की बुधवार देर रात को मौत हो गई। इस तरह झारखंड में कोरोना से पहली मौत की खबर बोकारो से आई है। जान गंवाने वाला संक्रमित मरीज गोमिया का रहनेवाला है। बोकारो जनरल अस्‍पताल में रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद करीब डेढ़ बजे रात में उसकी मौत हो गई।

इधर कोरोना से पहली मौत की सूचना के बाद से पूरे झारखंड में हड़कंप मच गया है। मृतक गोमिया का 65 वर्षीय बुजुर्ग है। बीते दिन जो चार पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी, जिसमें एक इस मृतक का भी है। बाकी तीन बोकारो के चंद्रपुरा की बांग्‍लादेश के तब्‍लीगी जमात से शामिल होकर लौटी पॉजिटिव महिला के परिवार के सदस्य हैं।

झारखंड में अबतक कुल 13 पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। पॉजिटिव मामलों में 5 रांची के हिंदपीढ़ी और 4 बोकारो के रहने वाले हैं। सिविल सर्जन डॉ वीबी प्रसाद ने बताया कि सभी संदिग्धों की जांच रिपोर्ट बुधवार देर रात आई है। रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में पूर्व के 4 मामलों के अलावा 9 और मामले बढ़े हैं। उन्होंने बताया कि हिंदपीढ़ी से सोमवार को भर्ती कराई गई 54 वर्षीय कोरोना पोजिटिव महिला के संपर्क में आने से 5 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

वहीं चार अन्य लोग बोकारो के पॉजिटिव महिला के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं। बताते चलें कि सोमवार को जिला प्रशासन की टीम द्वारा हिन्दपीढ़ी की पॉजिटिव महिला को जिस एंबुलेंस में रिम्स भेजा गया था, उसी एंबुलेंस में उसके परिवार के अन्य सदस्य भी रिम्स पहुंचे थे। ऐसे में यह जिला प्रशासन की लापरवाही को भी दर्शाता है। 

रांची के उपायुक्त राय महिमापत रे ने हिंदपीढ़ी में पांच और कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले आने पर हिंदीपीढ़ी क्षेत्र में अगले 72 घंटे के लिए कर्फ्यू को जारी रखने का फैसला लिया है। उन्होंने बताया कि जो पांच नए मामले कोरोना वायरस पॉजिटिव के आए हैं, वे कोरोना वायरस पीड़िता के घर के ही 5 सदस्य हैं। उल्लेखनीय है कि तीन रोज पहले ही हिंदपीढ़ी की एक और महिला को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। जिसके बाद उन्हें रिम्स में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था।

एक ही दिन में बढ़े 9 पॉजिटिव मामले

राज्य में बुधवार सुबह तक चार पॉजिटिव मामले थे। जिसमें दो रांची के हिंदपीढ़ी इलाके, एक बोकारो व एक हजारीबाग के थे। एक ही दिन में अचानक से संख्या बढ़कर 13 हो गई है। अचानक से 9 नए मामले आने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।  पूरे राज्य भर के लिए खतरे की संकेत हैं। अगर अब भी लॉक डाउन का सही तरीके से  पालन नहीं किया गया तो मामले और तेजी से बढ़ सकते हैं।

कब कहां मिले मरीज

  1. 31 मार्च : रांची के हिंदपीढ़ी मस्जिद से पकड़ी गई मलेशिया मूल की तब्लीगी महिला कोरोना संक्रमित।
  2. 02 अप्रैल : हजारीबाग के  विष्णुगढ़ के एक व्यक्ति में मिला संक्रमण। पश्चिम बंगाल के आसनसोल से लौटा था।
  3. 05 अप्रैल : बोकारो के चंद्रपुरा के तेलो गांव की महिला निकली कोरोना मरीज।
  4. 06 अप्रैल :  रांची के हिंदपीढ़ी में एक और महिला मिली कोरोना पॉजिटिव
  5. 08 अप्रैल : रांची के पांच और बोकारो के चार लोग मिले कोरोना से संक्रमित

हिंदपीढ़ी की पॉजिटिव महिला के संपर्क में आए हैं कई लोग, बढ़ी चिंता

रांची की हिंदपीढ़ी की 54 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव महिला के किडनी का इलाज रांची के बूटी मोड़ स्थित नेफ्रॉन क्लीनिक में चल रहा था। महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन ने अब उस क्लीनिक को भी सील कर दिया है। खतरे को देखते हुए संचालक समेत इलाज के लिए आने वाले और भर्ती 23 मरीजों को क्वारंटाइन करते हुए रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। महिला के संपर्क में आए सभी संदिग्धों का सैंपल लिया जा चुका है। फिलहाल इन सबकी रिपोर्ट आनी बाकी है। रिम्स के चिकित्सकों के अनुसार इनमें से कुछ मरीजों का डायलिसिस भी किया जाना है।

झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर हुई 13, जमातियों से फैला संक्रमण

तब्लीगी जमात से संक्रमित होकर लौटे कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने झारखंड में भी संक्रमण कई गुना बढ़ा दिया है। राज्य में बुधवार देर रात कोरोना के नौ पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। ये सभी जमातियों के संपर्क में आकर संक्रमित हुए हैैं। इसके साथ ही राज्य में अब कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 13 हो गई है। नए पॉजिटिव मामलों में पांच रांची के हिंदपीढ़ी और चार बोकारो के तेलो के हैं। इससे पहले रांची के ङ्क्षहदपीढ़ी में दो, बोकारो के चंद्रपुरा प्रखंड के तेलो गांव में एक और हजारीबाग के विष्णुगढ़ में एक मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

रांची के सिविल सर्जन डॉ. वीबी प्रसाद ने बताया कि सभी संदिग्धों की जांच रिपोर्ट बुधवार देर रात आई है। रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में पूर्व के चार मामलों के अलावा नौ और मामले बढ़ गए हैं। उन्होंने बताया कि हिंदपीढ़ी से सोमवार को भर्ती कराई गई 54 वर्षीय कोरोना पोजिटिव महिला के संपर्क में आने से पांच लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं चार अन्य लोग बोकारो के पॉजिटिव महिला के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं।

मलेशिया की महिला तब्‍लीगी जमाती ने बढ़ाया कोरोना संक्रमण

झारखंड की पहली कोरोना संक्रमित मरीज रांची के हिंदपीढ़ी में मिली थी। यह महिला मलेशिया की नागरिक है और निजामुद्दीन (दिल्ली) के तब्लीगी जमात में शामिल होकर लौटने के बाद रांची के हिंदपीढ़ी में छिपकर जमात के आयोजन करा रही थी। इसके साथ 24 लोग गिरफ्तार किए गए थे, जिनमें कई विदेशी नागरिक शामिल हैैं। वहीं बोकारो के तेलो की महिला बांग्लादेश के ढाका मेें आयोजित जमात में शामिल होकर लौटी थी। इन दो महिलाओं के संपर्क में आकर कई लोग संक्रमित हो गए। प्रशासन ने हिंदपीढ़ी और तेलो में लगातार लोगों की स्क्रीनिंग कर पूरे इलाके में कंप्लीट लॉकडाउन लागू कर रखा है। झारखंड में बुधवार को कुल 204 लोगों के सैंपल की जांच हुई। अबतक की बात करें तो झारखंड में कुल 1,315 लोगों की जांच हुई है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस