रांची, राज्य ब्यूरो। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका में यह संभावना जताई जा रही थी कि इस बार बच्चे अधिक प्रभावित होंगे। लेकिन वर्तमान लहर में अबतक के संक्रमण में सबसे अधिक 30 से 50 वर्ष के लोग संक्रमित हुए हैं। अभी तक बहुत कम संख्या में बच्चों के संक्रमण होने की बात सामने आई है।

पांच प्रतिशत मरीज 30 वर्ष से कम आयु के

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, कुल संक्रमितों में लगभग 80 प्रतिशत 30 से 50 वर्ष आयु के हैं। वहीं पांच प्रतिशत 50 से ऊपर तथा पांच प्रतिशत 30 वर्ष से कम आयु के किशोर या बच्चे हैं।

अभी छोटे बच्‍चों के संक्रम‍ित होने की बात सामने नहीं

राज्य महामारी विशेषज्ञ डा. प्रवीण कुमार कर्ण के अनुसार, अभी तक छोटे बच्चों के अधिक संक्रमित होने की बात किसी भी जिला में नहीं देखी गई है। लातेहार में ही कुछ बच्चों के संक्रमित होने का मामला सामने आया है।

पश्चिमी सिंहभूम में एक संक्रमित 90 वर्ष से अधिक का

वहीं, पश्चिमी सिंहभूम में एक संक्रमित 90 वर्ष से अधिक आयु का है। उनके अनुसार, शनिवार तक के कुल 21,098 संक्रमित मरीजों में 19,964 में हल्के लक्षण हैं तथा वे होम आइसोलेशन में ही अपना इलाज करा रहे हैं। कुल 1124 मरीजों को कोविड के सामान्य बेड में भर्ती कराया गया है।

168 मरीजों को आक्सीजन की जरूरत पड़ रही

168 मरीजों को आक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। वहीं, 63 मरीज ही आइसीयू में भर्ती हैं तथा जिनमें एक वेंटिलेटर पर है। राज्य सर्विलांस पदाधिकारी के अनुसार, राज्य में बड़ी संख्या में लोगों को कोरोना का टीका लग जाने के कारण यह वायरस इस बार घातक नहीं हो रहा है। हालांकि इस बार संक्रमण फैलने की दर काफी अधिक है।

Edited By: M Ekhlaque