रांची, जेएनएन। झारखंड की बेटी मधुमिता ने अपने जन्मदिन पर एशियाई खेल में तीरंदाजी में देश के लिए रजत पदक जीता है। इस बीच, सीएम रघुवर दास ने ट्वीट किया है कि झारखंड की बेटी मधुमिता को हार्दिक बधाई। एशियाई खेल में तीरंदाजी की महिला कंपाउंड टीम स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीतकर आपने राज्य के युवाओं के लिए मिसाल पेश की है। आपकी इस उपलब्धि पर पूरे देश को गर्व है। भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं।

एक अन्य ट्वीट में रघुवर ने लिखा है कि दुनिया भर में भारत का, तिरंगे का गौरव बढ़ाने के लिए झारखंड सरकार राज्य की बेटी मधुमिता को 10 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि देगी। आप झारखंड की बेटियों और युवाओं के लिए प्रेरणा बन गईं हैं। खूब मेहनत करें, राज्य का, देश का नाम रोशन करें।

मधुमिता का लाइव प्रदर्शन देख पिता ने कहा, हम तुम्‍हारे प्रदर्शन से खुश हैं
रामगढ़ के स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में मंगलवार को एशियन गेम की तीरंदाजी प्रतियोगिता के फाइनल का लाइव प्रदर्शन देखने मधुमिता के पिता जितेंद्र नारायण सिंह, उनके परिजन कोच सब पहुंचे थे। स्‍क्रीन पर लाइव प्रदर्शन चल रहा था। रजत पर संतोष करना पड़ा। वीडियो कॉलिंग कर पिता ने बेटी से कहा कि हम तुम्‍हारे प्रदर्शन से खुश हैं। कोच ने बताया कि लौटकर 30 को पीएम और 31 को सीएम से मिलते हुए वेस्‍ट बोकारो लौटेगी।

गौरतलब है कि मधुमिता रामगढ़ जिले के घाटो की रहने वाली हैं। उनके पिता जितेंद्र नारायण टिस्को के सीनियर डोजर ऑपरेटर हैं। 20 साल की मधु ने 2008 से आर्चरी शुरू की थी. पहली बार उसने 2013 में अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। मधुमिता राष्ट्रीय स्तर पर अब तक 50 से ज्यादा पदक जीत चुकी है। तीरंदाजी की ट्रेनिंग मधुमिता ने बिरसा मुंडा तीरंदाजी एकेडमी सिल्ली से ली है।

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस