रांची, फहीम अख्तर। 'मुंगेरिया हथियार' यानी बिहार के मुंगेर का हथियार चाहिए, तो आप रांची में कॉलेज के छात्रों से संपर्क कर सकते हैं। कॉलेज गोइंग स्टूडेंट्स इन दिनों कलम-कॉपी की जगह हथियार संभाल रहे हैं। अधिकतर छात्रों की दिलचस्पी हथियारों में है। छात्र किसी विषय के फॉर्मूले से ज्यादा रेंज फायरिंग, क्रॉस फायरिंग और शूटिंग की समझ अधिक रखने लगे हैं। यह बात हम नहीं, रांची पुलिस कह रही है। 

 

दरअसल, रांची के कॉलेज छात्रों को मुंगेरिया हथियार तस्करों ने आर्म्स सप्लायर बना दिया है। हथियार का शौक इन छात्रों की जिंदगी को बर्बाद कर रहा है। नतीजतन, छात्र पेशेवर आर्म्स सप्लायर बनने की राह पर आगे बढ़ रहे हैं। पुलिस की नजर अब इन छात्रों पर है। इस गैंग के बारे में पुलिस को जानकारी तो लगी है, लेकिन अभी तक बड़ी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। हथियारों की तस्करी में छात्रों के शामिल होने से राजधानी रांची में धड़ल्ले से मुंगेरिया हथियार बिक रहे हैं। यही कारण है कि इस साल अक्टूबर तक रांची में 56 आर्म्स एक्ट के मामले दर्ज हो चुके हैं। वहीं 131 हत्या के मामले सामने आए। इनमें 90 फीसद हत्याओं में अवैध हथियार का इस्तेमाल हुआ है।

 

 

रांची के सुखदेव नगर, हिंदपीढ़ी, लोअर बाजार, अरगोड़ा, सदर और पंडरा क्षेत्र में अपराधी खुलेआम मुंगेरिया हथियार लहरा रहे हैं। इसमें छात्रों को अपने नेटवर्क का हिस्सा बनाया गया है। इन कॉलेज छात्रों से डेढ़ हजार से लेकर दस हजार तक के हथियारों की तस्करी कराई जा रही है। लगातार हथियार के साथ पकड़े जा रहे कॉलेज छात्रों से इस बात की पुष्टि होती है कि छात्र किस तरह कलम छोड़ हथियार पकड़ रहे हैं।

  

रांची के कॉलेज छात्र हथियारों की सप्लाई में कोड वर्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं। हथियारों की लेनदेन में पिस्टल को जूता और गोलियों को मोजा कहते हैं। फोन पर बातचीत में भी जूते और मोजा दिलाने की बात कह रेट तय होती है। लोकल अपराधी मुंगेरी पिस्तौल को सस्ता और बेहतर क्वालिटी का मानते हैं। रांची में मुंगेर की देसी पिस्तौल के साथ नाइन एमएम की पिस्टल आसानी से उपलब्ध हैं। वहीं ऑर्डर देने पर कारबाइन, इंसास, स्टेनगन, ऑटोमेटिक रायफल तैयार कर उपलब्ध कराई जाती है। 

 

तस्करों का नेटवर्क तोड़ कॉलेज छात्रों का मोहभंग करने में जुटी पुलिस 

रांची पुलिस इन हथियार तस्करों का नेटवर्क तोड़ कॉलेज छात्रों का मोहभंग करने में जुटी है। पुलिस ऐसे छात्रों को चिह्नित कर रही है। हथियार तस्करों के गैंग के बारे में भी पुलिस को जानकारी मिली है लेकिन इसे ठोस तरीके से नेस्तनाबूद करने की योजना है। डीएसपी सदर सह पुलिस प्रवक्ता विकास चंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि सभी थानेदारों को इसके लिए अवैध हथियारों की सर्चिंग का निर्देश दिया गया है। समय-समय पर एंटी क्राइम चेकिंग चलाई जा रही है। सूचना पर लगातार छापेमारी की जा रही है। बहुत ही जल्द इस नेटवर्क को नेस्तनाबूद कर दिया जाएगा। 

 

रांची में सिर्फ दो माह के आंकड़े (अक्टूबर-नवंबर):

इसमें कई ऐसे जिन्होंने कॉलेज छोड़ हथियार के बल पर लूटपाट शुरू कर दी 

-01 नवंबर को लोअर बाजार पुलिस ने कांटाटोली के नेताजी नगर की दुकान में फायरिंग करने के आरोपी तौसीफ रजा को हथियार के साथ गिरफ्तार किया। 

-02 नवंबर को लोअर बाजार पुलिस ने सलमान खान को हथियार के साथ गिरफ्तार किया। उसने कॉलेज छोड़कर हथियार के बल लूटपाट शुरू कर दी थी। 

-05 नवंबर को अरगोड़ा मैदान से मुंगेरिया पिस्टल के साथ दो छात्र गिरफ्तार। 

-06 नवंबर को इटकी के पेट्रोल पंप कर्मी से हथियार के बल 5.84 लाख की लूट। 

-07 नवंबर को सदर क्षेत्र के गढ़ाटोली में हवाई फायरिंग। आरोपी फिरोज कुरैशी गिरफ्तार। 

-12 नवंबर को सदर पुलिस ने हथियार के साथ दो को किया गिरफ्तार।  

-13 नवंबर को एंटी क्राइम चेकिंग के दौरान मेडिका अस्पताल के समीप तीन कॉलेज छात्र धराए। 

-14 नवंबर की रात नामकुम में जमीन कारोबारी नंदकिशोर उर्फ नंदू की गोली मारकर हत्या। 

-17 नवंबर को अरगोड़ा में दंपती को घर में घुसकर मारी गोली, पति की मौत। 

-28 नवंबर को नामकुम में खनन व्यवसायी को मारी गोली। 

- 05 अक्टूबर को छिनतई करने वाले जैप जवान समेत तीन अपराधी दो मुंगेरी पिस्तौल, एके-47 और इंसास की गोलियों के साथ धराए। 

-10 अक्टबूर को बरियातू में माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड के फ्लैट से हथियार के बल 44 हजार व अन्य सामानों की डकैती। 

-14 अक्टूबर को सुखदेव नगर में सोनू ठाकुर की गोली मारकर हत्या। 

-15 अक्टूबर को धुर्वा में दो बिल्डरों की हत्या की योजना बनाते तीन अपराधियों समेत छह को एसएसपी ने पकड़ा। 

-17 अक्टूबर को सदर क्षेत्र के चेशायर होम रोड से पिस्तौल के साथ तीन धराए। तीनों कॉलेज छात्र थे। 

-19 अक्टूबर की रात अरगोड़ा क्षेत्र के पटेल पार्क के पास तीन अपराधियों ने हथियार के बल दस हजार व मोबाइल लूटे। 

-21 अक्टूबर की रात सदर क्षेत्र के कोकर गढ़ा टोली में अपराधियों ने रॉक गार्डेन कर्मी प्रदीप होरो की गोली मारकर हत्या कर दी। 

-23 अक्टूबर को तुपुदाना में आर्मी जवान पर फायरिंग 

 

बोलते आंकड़े: 

माह आर्म्स एक्ट का केस हत्या 
जनवरी 4 14
फरवरी 7 15
मार्च 5 16
अप्रैल 5 11
मई 7 9
जून 6 16
जुलाई 6 14
अगस्त 5 13
सितंबर 5 4
अक्टूबर 6 19
कुल 56 131

 

मुंगेर में अवैध हथियार का रेट 

देसी कटटा - 1500 से 3000 रुपये

नाइन एमएम पिस्टल - 8000-12000 रुपये

कारबाइन - एक लाख रुपये

एके 47 - 1.80 लाख रुपये

सिक्सर - 5000-8000 रुपये 

 

 

Posted By: Babita Kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप