रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Latest News मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमें जनजातियों के आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देना है। नई पीढ़ी को शिक्षा के जरिए सक्षम बनाना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सोसायटी बैंक में चल रही योजनाओं से आदिवासी, जनजाति, पिछड़े वर्ग के लोगों को लाभान्वित करने का हर संभव प्रयास होना चाहिए। सीएनटी और एसपीटी एक्ट के कारण कई जरूरतमंद को बैंक से लोन उपलब्ध नहीं हो पाता है। इस समस्या के समाधान हेतु सरकार कार्य कर रही है। सरकार एवं बैंकिंग सेक्टर के संयुक्त प्रयास से जनकल्याणकारी योजनाओं को जमीन पर उतारा जा रहा है। उन्होंने शनिवार को जमशेदपुर, धतकीडीह के अर्बन कम्युनिटी हाल में आयोजित आल इंडिया संथाल बैंकर्स एंप्लाइ वेलफेयर सोसायटी के दूसरी फाउंडेशन डे एवं वार्षिक बैठक को मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय से आनलाइन माध्यम से संबोधित किया।

बैंकों के मर्ज होने से घट रहीं नौकरियां

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि बैंको के मर्ज होने से एवं प्राइवेटाइजेशन के कारण नौकरियों की संख्या घटती जा रही है, ऐसे में हमें स्वरोजगार की ओर विशेष ध्यान देना है। सीएमइजीपी के जरिये सरकार शोषित और वंचित समाज के युवाओं को स्वरोजगार के अवसर प्रदान कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में आदिवासियों की समस्या के समाधान के लिए सरकार काम कर रही है। खेती-बाड़ी से जुड़े किसानों को लोन लेने में किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए सरकार उनका गारंटर बन रही है। केसीसी कार्ड के तहत भी उन्हें लोन उपलब्ध कराया जाता है। बैंक में जब ऐसे ग्रामीण किसान लोन के लिए आते हैं तो उन्हें हर संभव सहायता करने की आवश्यकता होती है। ऐसी स्थिति में बैंकर्स उन सभी जरूरतमंद लोगों की सहायता जरूर करें।

युवा उद्यमियों के साथ सामंजस्य बनाएं बैंक

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बैंकर्स ग्रुप को टीआइसीसीआइ के युवा उद्यमियों के साथ सामंजस्य बनाकर उन्हें मदद प्रदान करने की अपील की। बैठक में अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के मंत्री चम्पाई सोरेन, घाटशिला विधायक रामदास सोरेन, सोसायटी के प्रेसिडेंट शंकर हेमब्रम, सोसायटी के जनरल सेक्रेटरी राम हरी बासके, सोसायटी के एडवाइजर महेंद्र नाथ सोरेन समेत संस्था के अन्य लोग उपस्थित रहे।

Edited By: M Ekhlaque