रांची, जासं। गेल इंडिया शहर में उत्पन्न होने वाले कचरे से सीएनजी गैस का उत्पादन करेगा। इस संबंध में गेल की ओर से रांची नगर निगम को प्रस्ताव दिया गया है। नगर आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि झिरी स्थित कूड़ा डंपिंग यार्ड में गेल की ओर से सीएनजी मिथेन गैस उत्पादन करने का प्रस्ताव दिया गया है। गेल के प्रस्ताव के तहत डंपिंग यार्ड में भरे पड़े कूड़े का कंपोस्टिंग कर सीएनजी गैस उत्पादन करने की योजना है।

गेल की ओर से डंपिंग यार्ड में प्लांट लगाने की योजना है। यह सेवा निश्शुल्क की जाएगी। कचरा से उत्पादित सीएनजी मिथेन गैस की आपूर्ति भी गेल के माध्यम से इसी शहर में की जाएगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल गेल के इस प्रस्ताव का अध्ययन किया जा रहा है। इधर, गेल ईस्टर्न जोन के निदेशक ने बताया कि इस संबंध में फिलहाल रांची नगर निगम को कंपनी की ओर से प्रस्ताव दिया गया है। इस मामले में नगर आयुक्त के साथ दो बार बैठक भी हो चुकी है। एक सप्ताह के अंदर पुन: नगर आयुक्त के साथ बैठक की जाएगी। यदि सभी परिस्थितियां अनुकूल रहीं तो झिरी स्थित कूड़ा डंपिंग यार्ड में प्लांट स्थापित करने की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

चयनित कंपनी के माध्यम से उपलब्ध होगा चिप युक्त स्मार्ट डस्टबिन

नगर आयुक्त ने बताया कि सफाई की नई व्यवस्था के तहत अब घर-घर में आरएफआइडी चिप युक्त दो स्मार्ट डस्टबिन दिए जाएंगे। चिप युक्त स्मार्ट डस्टबिन की आपूर्ति चयनित कंपनी के माध्यम से की जाएगी। एक डस्टबिन गीला कचरा के लिए और दूसरा डस्टबिन सूखा कचरा के लिए होगा। आरएफआइडी चिपयुक्त स्मार्ट डस्टबिन के माध्यम से कंट्रोल रूम को यह जानकारी मिल जाएगी कि किस घर से कूड़ा का उठाव कर लिया गया है और किस घर से नहीं। कंट्रोल रूम के माध्यम से एक-एक घर से कूड़ा उठाव कार्य की मॉनिटरिंग की जाएगी। इसके अलावा गीला व सूखा कचरा के लिए अलग-अलग डस्टबिन की सुविधा उपलब्ध होने से स्वच्छता का मापदंड भी पूरा होगा।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस