रांची, राज्य ब्यूरो। पश्चिम सिंहभूम के बुरुगुलीकेला गांव में सात ग्रामीणों की हत्या के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के तेवर सख्त हैं। नई दिल्ली से लौटते ही बुधवार की दोपहर उन्होंने राज्य के आलाधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की और विधि-व्यवस्था पर खरी-खरी सुनाई। कहा कि यह घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार जनता के जानमाल की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेगी। कानून से उपर कोई नहीं है और कानून तोडऩे वालों से सरकार व पुलिस सख्ती से निपटेगी।

मुख्यमंत्री ने बेहद सख्त लहजे में कहा कि राज्य के थानों की स्थिति ठीक नहीं है। थानेदार अपने लक्ष्य से भटक गए हैं। सीएम ने कहा कि डीजीपी कमल नयन चौबे से कहा कि वे पुलिस तंत्र को यह स्पष्ट कर दें कि सरकार जनता के जान-माल की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेगी। थाना स्तर पर व्याप्त कार्यशैली में सुधार लाने की दिशा में कार्रवाई सुनिश्चित करने की जरूरत है।

यह भी कहा है कि यह सही है कि पुलिस हर जगह नहीं रह सकती है, लेकिन पुलिस की कार्यशैली ऐसी होनी चाहिए कि जनता का भरोसा उसपर बना रहे तथा अपराध करने वाले और कानून तोडऩे वालों में पुलिस का दहशत बना रहे। कानून सबसे उपर है और घटना के दोषियों को बख्सा नहीं जाएगा।

मुख्य सचिव डा. डीके तिवारी, गृह कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, डीजीपी कमल नयन चौबे, डीजी मुख्यालय पीआरके नायडू, एडीजी विशेष शाखा अजय कुमार सिंह, एडीजी सीआइडी अनुराग गुप्ता, एडीजी ऑपरेशन मुरारी लाल मीणा, आइजी नवीन कुमार सिंह, आइजी ऑपरेशन साकेत कुमार सिंह आदि ने बैठक में शिरकत की।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस