जागरण संवाददाता, रांची: राजधानी रांची में पानी की कमी से हर कोई परेशान है। सावन माह में भी अच्छी बारिश न होने से इस समस्या के विकराल होने की उम्मीद और बढ़ गई है। इसे देखते हुए दैनिक जागरण के द्वारा जल संरक्षण के लिए जागरूकता का अभियान आधा गिलास पानी चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत पहले होटलों में जाकर लोगों को जितनी जरूरत हो उतना ही पानी इस्तेमाल करने की प्रेरणा दी गयी। वहीं अब आम लोगों के बीच इस मुद्दे पर चर्चा के जरिये जागरूकता का अभियान शुरू किया गया है।

इस कड़ी के तहत शुक्रवार को कडरू में परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस परिचर्चा में कई लोगों ने भाग लिया। चर्चा में शामिल नित्या ने बताया कि हम अगर रोज के अपनी आदत में थोड़ा-थोड़ा बदलाव करें तो प्रत्येक दिन हम काफी पानी की बचत कर सकते हैं। इसके लिए किसी विशेष ट्रेनिंग की जरूरत नहीं है।

पूनम कुमारी ने कहा कि जल संरक्षण की जिम्मेदारी केवल सरकार की नहीं हो सकती। इसके लिए हम सभी को सजग रहना चाहिए। यदि किसी के घर में सप्लाई पानी का नल खराब है तो वो बनाने का काम घर वाले का है सरकार का नहीं। परिचर्चा में शामिल राजेश कुमार ने बारिश नहीं होने पर गंभीर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि बारिश के लिए पेड़ों का होना काफी जरूरी है। उनके घर बालाजी गैलेक्सी सोसाइटी में इसे देखते हुए 50 पेड़ लगाये हैं। वहीं एबी वर्मा ने कहा कि उनकी सोसाइटी में वर्षा जल संचयन के लिए सभी काफी जागरूक हैं। वहां रेन वाटर हार्वेस्टिंग बनाया गया है। भू जल संचयन के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग करना ही एक मात्र साधन है। सोसाइटी के लोग भी जल संरक्षण के लिए काफी जागरूक हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप