जासं, रांची : फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज की 57वीं वार्षिक आमसभा चैंबर भवन में आयोजित की जा रही है। आमसभा सुबह 11 बजे से शुरू हो गई है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वर्तमान चैंबर अध्यक्ष प्रवीन जैन छाबड़ा ने कोविड-19 के दौरान व्यापारियों का उत्साह बनाए रखने में चैंबर की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में बताया। साथ ही कहा कि चैंबर की प्राथमिकता व्यापार को बढ़ाने की रही है। आने वाली समिति भी इस कार्य को बढ़ाएगी। कोविड के सुरक्षा मानकों का ध्यान रखते हुए वार्षिक आमसभा में केवल 100 लोगों को (पहले आयें, पहले पायें के आधार पर) प्रवेश की अनुमति मिलेगी। हालांकि अन्य सभी सदस्य ऑनलाइन माध्यम से वार्षिक आमसभा से जुड सकते हैं। चैंबर के द्वारा ऑनलाइन लिंक सभी सदस्यों को मोबाइल पर उपलब्ध करा दिया गया है।

चैंबर अध्यक्ष प्रवीण जैन छाबडा ने कहा कि फेडरेशन चैंबर की वार्षिक आमसभा हमारी गतिविधियों का केंद्र बिंदु है। इस अवसर पर संपूर्ण झारखंड के अग्रणी उद्यमी, व्यवसायी व प्रोफेशनल्स के अलावा प्रमुख विशिष्टजनों की उपस्थिति का अवसर हमें प्राप्त होता है। चैंबर के स्थापना से अब तक पिछले 61 वर्षों में फेडरेशन को राज्यस्तरीय स्वरूप देने की दिशा में कई पूर्व अध्यक्षों ने तत्कालीन परिवेश के अनुसार बेहतरी के कई प्रयास किये हैं। मैंने भी इस प्रयास को आगे बढ़ाया है। समृद्ध व्यापार और खुशहाल व्यापारी की परिकल्पना के उद्देष्य से कानूनी जटिलताओं के सरलीकरण और पॉलिसी परिवर्तन की दिशा में हमारा प्रयास अनवरत जारी है जिसके दूरगामी परिणाम आयेंगे। उन्होंने चैंबर की वार्षिक आमसभा में प्रदेश के व्यापारियों व उद्यमियों को सम्मिलित होने की अपील की।

 

कल से शुरू होगा चैंबर चुनाव

चैंबर चुनाव 26,27 और 28 सितंबर को चुनाव का आयोजन किया जाएगा। मतदान सुबह 10 बजे से संध्या 5 बजे तक चलेगा। वहीं 28 सितंबर को ही चुनाव परिणाम की घोषणा की जाएगी। चैंबर चुनाव में मतदान की व्यवस्था दूसरे, चौथे और पांचवें तल्ले पर होगी। एक बार में आठ लोग वोट डालेंगे। जबकि 16 लोग एक फ्लोर पर वोट डालने का इंतजार करेंगे। वोट देने के बाद एक पर्ची का मिलान के लिए निकलेगी, जिसे मतदान स्थल पर रखी पेटी में डालनी होगी। मतदान स्थल पर किसी भी तरह की प्रचार सामाग्री पूर्णतः प्रतिबंधित होगी। यह चुनाव पेपरलेस होगा। किसी भी तरह के पंपलेट या प्रचार सामाग्री मतदान स्थल के अंदर नहीं बांटे जा सकेंगे।

Edited By: Kanchan Singh