रांची, राज्य ब्यूरो। राजधानी में सोमवार से सिग्नल तोड़ने वालों के विरुद्ध नई व्यवस्था ट्रायल के तौर पर शुरू होने जा रही है। सोमवार 10 दिसंबर से शहर के 16 चौराहों पर शुरू हो रहे इस ट्रायल को 31 दिसंबर तक चलाया जाएगा। अब रेड सिग्नल होते ही अपनी गाड़ी जेब्रा क्रासिंग के समीप येलो लाइन के पहले रोक लें। अगर येलो लाइन पार भी कर गए तो स्टॉप लाइन के आगे कतई न जाएं। अगर स्टॉप लाइन भी पार कर गए तो आपको चलान भरने से कोई नहीं बचा पाएगा।

आपका चलान सीसीटीवी कैमरे में कैद आपके गाड़ी के नंबर में दर्ज पते पर पहुंच जाएगा। अभी तो सिर्फ ट्रायल के तौर पर इसे शुरू किया जा रहा है, लेकिन एक जनवरी 2019 से कोई छूट नहीं मिलने वाली है। नए साल में सिग्नल तोड़ने वालों को जोरों का झटका लगने वाला है। सीसीटीवी कैमरे में कैद उनके वाहन के नंबर पर चलान तैयार होगा, जो सीधे घर के पते पर पहुंचेगा।

शहर में एक सप्ताह के भीतर जेब्रा क्रासिंग, येलो व स्टॉप लाइन का निर्माण पूरा हो जाएगा। इसे जोर-शोर से बनाया जा रहा है। इतना ही नहीं, जहां-जहां सिग्नल लाइट सही तरीके से काम नहीं कर रहे हैं, उसे भी दुरुस्त किया जा रहा है। सोमवार से सभी चिह्नित 16 प्वाइंट पर सिग्नल लाइट व कैमरे सक्रिय हो जाएंगे। इसमें बिना हेलमेट व तीन सवारी वाले भी पकड़े जाएंगे।

ये हैं 16 चौराहे, जहां से शुरू हो रहा है ट्रायल : जेल चौक, अरगोड़ा चौक, चादनी चौक, सर्जना चौक, बिरसा चौक, प्रेम संस मंदिर चौक, सुजाता चौक, करमटोली चौक, सहजानंद चौक, हिनू चौक, कचहरी चौक, बूटी मोड़ चौक, रातू रोड चौक, एजी मोड़ चौक, सिरम टोली चौक व लालपुर चौक। यातायात व्यवस्था को चाहिए 500 सिपाही, वर्तमान में हैं 194 जवान शहर की यातायात व्यवस्था को संभालने के लिए 500 सिपाहियों की जरूरत है।

यहां पहले से 144 सिपाही थे, अभी 50 और सिपाही प्रशिक्षण के बाद यातायात पुलिस को मिले हैं। इस तरह वर्तमान में 194 सिपाही यातायात व्यवस्था संभालने में जुटे हुए हैं। अगले महीने यातायात पुलिस को 100 सिपाही और मिलने वाले हैं। इस तरह करीब 300 जवान मिल जाने से यातायात व्यवस्था संभालने में बहुत हद तक मदद मिल जाएगी।

हर चार माह में बदलेगा चौराहे की यातायात पुलिस का चेहरा एसपी यातायात अजीत पीटर डुंगडुंग अब प्रत्येक चार महीने पर एक पोस्ट पर तैनात यातायात पुलिस को बदल देंगे। पोस्ट बदलते रहने के पीछे उनका तर्क है कि यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने में मदद तो मिलेगी ही, भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा।

सोमवार से ट्रायल : इस अवधि में भी सीसीटीवी से चलान काटने की हल्की कोशिश जरूर होगी, लेकिन एक जनवरी 2019 से इसे पूरी तरह सख्ती से लागू किया जाएगा। जेब्रा क्रासिंग, येलो व स्टॉप लाइन एक सप्ताह में सभी चिह्नित 16 चौराहों पर बना लिए जाएंगे।' अजीत पीटर डुंगडुंग, एसपी, यातायात।