दुलमी (रामगढ़), जासं। Jharkhand Road Accident रामगढ़ जिले के दुलमी प्रखंड अंतर्गत गोला-चारू पथ में कुल्ही के पास केंझिया घाटी में मुंबई से प्रवासी मजदूरों को लेकर पश्चिम बंगाल के बर्द्धमान जा रही बस सोमवार की दोपहर में अनियंत्रित होकर पलट गई। इससे बस पर सवार तीन दर्जन से अधिक मजदूर घायल हो गए। इनमें से कई मजदूरों को गंभीर चोट लगी है। मौके पर पहुुंची रामगढ़ विधायक ममता देवी ने सभी घायलों को एंबुलेंस से इलाज के लिए रिम्स रांची व सीएचसी गोला में भर्ती कराया।

घटना में एक मजदूर का पैर व एक के हाथ कटने की बात बताई जा रही है। बस के पलटने के बाद वहां अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। बस पर नीचे करीब 80 मजदूर सवार थे। बस की छत पर ही दो दर्जन से अधिक लोग सवार थे। बस के अंदर सीट पर करीब 50 यात्री महाराष्ट्र, मुुंबई से सवार थे। जबकि छत पर बैठे मजदूर छत्तीसगढ़ से बंगाल जाने के लिए सवार हुए थे। बताया गया कि रांची से ओरमांझी से सिकिदरी घाटी होते हुए बस (सीजे-11टी- 1817) आ रही थी।

तेज रफ़्तार बस जैसे ही कुल्ही गांव के समीप केंझिया घाटी पहुंची कि अचानक गाड़ी का ब्रेक फेल हो गया। इसके बाद बस पूरी तरह से अनियंत्रित होकर पलट गई। इससे दबकर एक प्रवासी मजदूर का हाथ व एक का पैर बुरी तरह जख्मी हो गया। घटना में बस की छत्त पर बैठे दो दर्जन प्रवासी मजदूरों को अधिक चोट लगी है। सूचना मिलते ही क्षेत्र भ्रमण कर रही विधायक ममता देवी घटनास्थल पहुंचकर घायलों को अस्पताल भेजवाने की व्यवस्था की।

साथ ही उन्होंने समुचित इलाज के लिए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से बात कर मजदूरों के लिए बेहतर इलाज कराने का अनुरोध किया। इस दौरान बस पर सवार सुरक्षित बचे प्रवासी मजदूरों के लिए खाने पीने की समाग्री उपलब्ध करवाया गया। इधर घटना की सूचना पाकर दुलमी बीडीओ विजयनाथ मिश्रा, सीओ किरण सोरेंग रजरप्पा थाना प्रभारी विनोद कुमार मुर्मू सहित पुलिस बल के साथ पहुंचे। बस पर सवार मामूली रूप से घायल व सुरक्षित बचे प्रवासी मजदूरों को प्रशासन ने दूसरे बस से बंगाल भेजवा दिया।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस