रांची, राज्य ब्यूरो। भाजपा ने कांग्रेस की जनाक्रोश रैली को सुपरफ्लाप बताया है। हाल ही में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए अरुण उरांव ने अपनी पूर्व की पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि बाबा कार्तिक उरांव की जयंती मनाना कांग्रेस की ढकोसलेबाजी है, क्योंकि कांग्रेस न ही कार्तिक उरांव के विचारों का कभी सम्मान कर पाई और न ही उनके  आदिवासी हितों के लिए उठाए गए कदमों का समर्थन किया। अरुण उरांव ने कहा कि किसी भी कांग्रेसी नेता ने बाबा कार्तिक उरांव के विचारों एवं उनके सपनों पर बात नहीं की।

कांग्रेस के इसी वोटबैंक की राजनीति का परिणाम है कि दो हजार की क्षमता वाले विधानसभा मैदान में रैली करने के बावजूद समारोह स्थल खाली रहा। इससे उनके विलुप्त होते जनाधार का पता चलता है। उन्होंने कहा कि जब बाबा कार्तिक उरांव ने धर्मांतरण करके ईसाई बने आदिवासियों के आरक्षण को निरस्त करने के लिए अपना स्वर संसद तक बुलंद किया था तब कांग्रेस ने उनका सहयोग भी करना उचित नहीं समझा।

बाबा कार्तिक उरांव इस मामले में निजी विधेयक भी लाए थे, लेकिन वे इस अभियान में सफल नहीं हो सके। कांग्रेस की रैली को सुपर फ्लाप बताते हुए अरुण उरांव ने कहा कि आज हर समाज, हर वर्ग कांग्रेस से कन्नी काट रहा है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज को, कांग्रेस को यह स्पष्ट करना चाहिए कि वह हमेशा ही आदिवासी हितों की बात करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ क्यों खड़ी हो जाती है। उन्होंने कहा कि आदिवासियों के मसीहा माने जाने वाले बाबा कार्तिक उरांव से कांग्रेस को इतनी नाराजगी क्यों थी।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप