रांची, राज्य ब्यूरो। बिहार में भाजपा से तालमेल टूटने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा विरोधी दलों से संपर्क बढ़ाने में लगे हैं। इस क्रम में वे कई प्रमुख नेताओं के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं। इसी कड़ी में वे झारखंड में सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन से मुलाकात कर सकते हैं। आगामी 16 अक्टूबर को रांची में जदयू की राज्यस्तरीय सम्मेलन की तैयारियों के संदर्भ में यहां आए बिहार सरकार के मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव को लेकर गैर भाजपा दलों के नेताओं से मिल रहे हैं। वे इस कड़ी में हेमंत सोरेन से भी मुलाकात कर सकते हैं।

1932 खतियान पर रुख साफ करेगा जदयू

मंत्री श्रवण कुमार ने बताया कि राज्यस्तरीय सम्मेलन में जदयू प्रदेश में 1932 के खतियान पर आधारित स्थानीय नीति लागू किए जाने पर अपना रुख स्पष्ट करेगा। सम्मेलन में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह शामिल होंगे। इससे पहले रविवार को श्रवण कुमार ने पार्टी कार्यालय में प्रदेश पदाधिकारियों, राज्य कार्यकारिणी के सदस्यों और विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों के साथ बैठक कर सम्मेलन की तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों को इसे लेकर कई टास्क दिए।

रांची में भव्य स्वागत की चल रही तैयारी

झारखंड जदयू प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सदस्य खीरू महतो की अध्यक्षता में हुई बैठक में उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष के रांची आगमन को लेकर उनका भव्य स्वागत करने, शहर में झंडा, बैनर, पोस्टर लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने सदस्यता अभियान की भी समीक्षा करते हुए इसमें तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने मानिटरिंग कमेटी के सदस्यों को सभी जिला प्रभारी एवं जिला अध्यक्षों से अलग-अलग बात कर रिपोर्ट तैयार करने और अगली बैठक में रखने काे कहा।

25 लाख प्राथमिक सदस्य बनाने का लक्ष्य

प्रदेश अध्यक्ष खीरू महतो ने कार्यकर्ताओं को 25 लाख प्राथमिक सदस्य बनाने का लक्ष्य दिया। बैठक में पूर्व मंत्री सुधा चौधरी, पूर्व विधायक कामेश्वर दास, प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक चौधरी, हाजी हसीब खां, त्रिवेणी वर्मा, आफताब जमील, प्रदेश महासचिव श्रवण कुमार, भगवान सिंह, प्रवक्ता सागर कुमार, शैलेंद्र महतो, पिंटू सिंह, महासचिव सुशील सिंह, उपेंद्र सिंह आदि शामिल हुए।

Edited By: M Ekhlaque

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट