रांची, राज्य ब्यूरो। झारखंड स्टेट बार काउंसिल के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के चुनाव की तिथि की घोषणा होते ही हाई कोर्ट में हलचल बढ़ गई है। अधिवक्ताओं के बीच उम्मीदवारों को लेकर चर्चा का बाजार गर्म है। बार काउंसिल के अध्यक्ष पद के लिए महाधिवक्ता अजीत कुमार ने भी कमर कस ली है। इसके अलावा पूर्व अध्यक्ष राजीव रंजन, राजेंद्र कृष्णा व रामसुभग सिंह भी इस पद के दावेदार माने जा रहे हैं। हर कोई अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए बार काउंसिल के सदस्यों को अपने पक्ष में करने की कोशिश करने में जुटा है।

चर्चा के अनुसार उपाध्यक्ष के पद के लिए अभी तक सिर्फ दो लोगों का नाम सामने आया है। जिसमें पूर्व उपाध्यक्ष राजेश शुक्ला व गोपेश्वर झा का नाम शामिल है। इसबार बार काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य निर्वाचित होने के लिए सबसे ज्यादा दांव पेंच का दौर जारी है। इसके लिए हर समय समीकरण बदल रहा है। भावी उम्मीदवार इसके लिए लॉबिंग करने में जुटे हुए हैं, तो कहीं समय अवधि को लेकर बंटवारे की भी बात चल रही है। इस पद के लिए सबसे ज्यादा दावेदारी प्रशांत कुमार सिंह व नीलेश कुमार की मानी जा रही है। अन्य लोगों भी इस पद पर अपनी दावेदारी पेश करने की जुगत में हैं। हालांकि चुनाव की तिथि की घोषणा होने के पूर्व अध्यक्ष पद पर आम सहमति भी बनाने की कोशिश की गई थी, लेकिन तिथि की घोषणा होते ही हर कोई पद पाने की लालसा में तोड़फोड़ की राजनीति शुरू कर दी है। बता दें कि तीन पदों को लिए 25 सदस्य ही अपने मत का प्रयोग करेंगे। इनका चुनाव 29 जुलाई को होना है।