-घटना से कुछ देर पूर्व इंडियन ओवरसीज बैंक में महिला ट्रेनिंग कॉलेज की जमा हुई थी फीस

-तीन बाइक पर सवार छह अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम

-बंदूक की बट मारकर गार्ड रत्ता उरांव को किया घायल जागरण संवाददाता, रांची/ओरमांझी/पिठोरिया : पिठोरिया थाना क्षेत्र के चंदवे स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक से हथियार के बल पर 7.19 लाख रुपये की डकैती कर अपराधी फरार हो गए। तीन बाइक पर सवार छह अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है। डकैती से कुछ देर पहले महिला ट्रेनिंग कॉलेज की फीस जमा हुई थी। घटना शुक्रवार की दोपहर करीब डेढ़ बजे की है। अपराधियों की उम्र लगभग 20 से 25 वर्ष के बीच की है।

अपराधियों ने तीन बैंक कर्मचारियो पूनम कुजूर, मनीषा कुमारी और एक अन्य के मोबाइल भी लूट लिए। बैंक के गार्ड रत्ता उरांव के सिर पर बंदूक की बट मारकर उसे घायल कर दिया। डकैती की सूचना मिलने के बाद ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग, डीएसपी मुख्यालय वन अमित कच्छप, पिठोरिया थाना प्रभारी लालजी यादव, बीआईटी मेसरा ओपी प्रभारी वीरेंद्र कुमार समेत आसपास थाने के प्रभारी मौके पर पहुंचे। ग्रामीण एसपी ने बैंक के मैनेजर जीतेंद्र कुमार से पूरे मामले में पूछताछ की। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की जांच की। सीसीटीवी फुटेज में अपराधियों का चेहरा कैद हो गया है। इस मामले में बैंक मैनेजर जितेंद्र कुमार के बयान पर अज्ञात के खिलाफ पिठोरिया थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग ने कहा कि अपराधियों की धर-पकड़ के लिए छापामारी चल रही है।

::::::::::::::::::::::::::

चार अपराधी घुसे थे बैंक में, दो बैंक के बाहर निगरानी में

पुलिस के अनुसार इंडियन ओवरसीज बैंक में डकैती की घटना में छह अपराधी शामिल थे। चार बैंक के अंदर डकैती करने घुसे थे। दो बाइक पर बैंक के बाहर निगरानी में लगे हुए थे। बैंक के अंदर घुसे दो अपराधियों के पास हथियार थे। एक ने गार्ड से मारपीट कर उसका लाइसेंसी हथियार लूट लिया, मगर भागते समय अपराधी ने गार्ड का लाइसेंसी हथियार लौटा दिया।

::::::::::::::::::::::::::

अलग-अलग दिशा में भागे अपराधी

बैंक से डकैती करने के बाद तीन बाइक पर सवार छह अपराधी अलग-अलग दिशा में भागे। दो बाइक पर सवार चार अपराधी पिठोरिया घाटी की ओर, जबकि एक बाइक पर सवार दो अपराधी ओरमांझी की तरफ भागे। बैंक में डकैती करने आए दो अपराधी नकाब पहने हुए थे।ं अन्य बिना नकाब के।

::::::::::::::::::::::::::::

हेलमेट व चादर ओढ़कर बैंक पहुंचे थे अपराधी

बैंक के गार्ड रत्ता उराव ने बताया कि दोपहर के समय हेलमेट व चादर ओढ़कर अपराधी बैंक पहुंचे थे। बैंक में प्रवेश करने से पहले उन्हें हेलमेट और चादर हटाने के लिए बोला। इतना कहने पर अपराधी हाथ में रखा गन छीनने लगे। इस दौरान अपराधी ने सिर पर बंदूक की बट से हमला कर दिया और चुपचाप किनारे बैठ जाने की हिदायत दी। सभी अपराधी हथियार से लैस थे। इसके बाद बैंक के अंदर घुसे और हथियार के बल पर सभी को कब्जे में लिया। कैश काउंटर में रखा सारा पैसा लूटने के बाद अपराधी फरार हो गए।

निजी गार्ड के भरोसे से है बैंक

ओवरसीज बैंक निजी गार्ड रत्ता उरांव के भरोसे है। एक भी पुलिसकर्मी की बैंक में ड्यूटी नहीं दी गई है। न ही पुलिस की गश्ती गाड़ी बैंक में आकर जांच करती है। अपराधियों ने कई दिनों से रेकी की थी। इसके बाद बैंक डकैती की घटना को अंजाम दिया। सोच-समझकर जुमा के दिन को चुना। दोपहर में नमाज पढ़ने का समय होता है। इस दिन चंदवे में चौक-चौराहा खाली रहता है।

Posted By: Jagran