खास बातें

  • खूंटी से सहेलियों के साथ पिकनिक मनाकर लौट रही थी पीड़िता
  • रास्ते में परिचित युवक ने घर पहुंचाने की बात कह बाइक पर बैठाया और अपने फ्लैट पर ले जाकर पिस्तौल की नोक पर किया दुष्कर्म
  • पीड़िता ने घटना के बाद घर में फंदे से लटकर की जान देने की कोशिश
  • आक्रोशित लोगों ने घेरा थाना, पुलिस कर रही आरोपित की तलाश में छापेमारी

रांची, जासं। रांची के जगन्नाथपुर इलाके में एक 17 वर्षीय नाबालिग से दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। दुष्कर्म की घटना के बाद पीड़िता ने अपने घर में आत्महत्या की कोशिश की। इस घटना के बाद पीड़िता के परिजनों ने आरोपित की गिरफ्तारी की मांग को ले शुक्रवार देर शाम काफी देर तक थाने में हंगामा किया। परिजन दुष्कर्म के आरोपित के गिरफ्तारी की मांग पर अड़े थे। हालांकि खबर लिखे जाने तक आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी। 

बताया जाता है कि रांची के जगन्नाथपुर इलाके की रहने वाली पीड़िता अपनी कुछ सहेलियों के साथ पिकनिक मनाने खूंटी गई थी। वहां से लौटने के दौरान जगन्नाथपुर में ही एक परिचित गोलू सिंह उर्फ सौरव ने उसे लिफ्ट देने के बहाने अपनी बाइक पर बिठा लिया। इसके बाद सौरव उसे एक फ्लैट में ले गया, पिस्तौल दिखाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इस घटना के बाद पीड़िता किसी तरह वहां से अपने घर पहुंची और फंदे से लटक कर जान देने की कोशिश की। घर में मौजूद मां और पिता ने नाबालिग को बचाया और घटना का कारण पूछा। पीड़िता से पूरी घटना जानने के बाद आक्रोशित परिजन आसपास के लोगों के साथ थाने पहुंचे और पुलिस पर कार्रवाई के लिए दबाव बनाया।  

पुलिस ने पूरी रात की छापेमारी, नहीं मिला आरोपित 

घटना सामने आने के बाद पुलिस रेस हो गई। आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की तीन टीमों ने रात में कई जगह छापेमारी की, लेकिन आरोपित का कोई सुराग नहीं मिला। फिलहाल पुलिस ने पूछताछ के लिए आरोपित के छोटे भाई को हिरासत में लिया है। 

आरोपित को चाचा बोलती थी पीड़िता 

परिजनों के अनुसार आरोपित गोलू पीड़िता के घर अक्सर आना-जाना करता था। गोलू का पीड़िता के माता-पिता के साथ परिचय था। आरोपित गोलू को पीड़िता चाचा कहती थी। इसी का फायदा उठाकर आरोपित ने उसे हवस का शिकार बनाया। घटना के बाद पीड़िता के परिजन आरोपित के घर भी पहुंचे थे, लेकिन इससे पहले वह फरार हो चुका था। 

थाने में देर तक हंगामा, घटना की सूचना पर पहुंचे हटिया एएसपी 

पीड़िता द्वारा आत्महत्या की कोशिश के बाद शुक्रवार देर रात मोहल्लेवासी और परिजन जगन्नाथपुर थाना पहुंच गए थे। सूचना मिलने पर मौके पर अरगोड़ा थाने की पुलिस भी पहुंची। इस बीच हटिया एएसपी विनीत कुमार भी पहुंचे। उन्होंने लोगों को समझाया बुझाया और कार्रवाई का आश्वासन दिया। हटिया एएसपी खुद छापेमारी टीम का नेतृत्व करते हुए आरोपित  तलाश में निकल गए। 

नाबालिग पहले हो चुकी है ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार

परिजनों के अनुसार पीड़िता पहले ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार हो चुकी है। मार्च 2018 में जगन्नाथपुर इलाके में रहने वाले एक प्रोफेसर पीड़िता के पिता द्वारा एक लाख रुपये कर्ज चुकता नहीं किए जाने पर नाबालिग को दिल्ली ले जा रहे थे। उसने कहा कि जब तक कर्ज नहीं चुका देते लड़की दिल्ली में काम करेगी। नाबालिग के पिता की शिकायत के बाद पुलिस ने गाजियाबाद से लड़की का रेस्क्यू कर लिया था। साथ ही आरोपित प्रोफेसर को गिरफ्तार भी किया गया था। आरोपित प्रोफेसर हाल ही में में जेल से छूटा है। 

पीड़िता के बयान पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है। आरोपी के बारे में आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।- विनीत कुमार, एएसपी हटिया।

यह भी पढ़ें-लॉ छात्रा दुष्कर्म कांड: स्पीडी ट्रायल शुरू, छह को होगा आरोप गठित Ranchi News

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस