रांची, राज्य ब्यूरो। नव पदस्थापित कारा महानिरीक्षक शशि रंजन ने कारा निरीक्षणालय में गुरुवार को सभी काराधीक्षकों के साथ बैठक की। बैठक में उन्होंने अधिकारियों को चेताया कि अगर जेल में मोबाइल की घंटी बजी तो खैर नहीं है। उन्होंने जेलों की सुरक्षा व स्थापना से संबंधित सभी बिंदुओं पर समीक्षा की। सभी कार्यों को गुणवत्तापूर्वक पूरा करने के लिए निर्देशित भी किया।

आइजी ने काराधीक्षकों से कहा कि बंदियों के कल्याणकारी योजनाओं में गति लाएं, न्यायालय संबंधित वादों, मानवाधिकार से संबंधित वादों का त्वरित निष्पादन कराएं। आइजी ने सभी काराधीक्षकों को सचेत किया कि उनके विरुद्ध कार्य के प्रति शिथिलता या किसी प्रकार की अनियमितता पाए जाने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं, जेलों में अच्छे कार्य करने पर कारा के पदाधिकारी व कर्मी प्रोत्साहित होंगे और उन्हें पुरस्कार भी दिया जाएगा।

बेहतर कार्यों के लिए काराधीक्षक व कारापाल को राष्ट्रपति पदक के लिए प्रस्ताव भेजने का भी निर्देश दिया गया है। कारा महानिरीक्षक की बैठक में मुख्य रूप से विशेष कार्य पदाधिकारी दीपक विद्यार्थी, सहायक कारा महानिरीक्षक तुषार रंजन गुप्ता आदि भी मौजूद थे।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस