रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। रांची जिले के नामकुम थाने के एएसआइ रविन्द्र राम को भ्रष्‍टाचार निरोधक ब्‍यूरो की टीम ने रिश्‍वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। बताया गया कि शिकायत मिलने के बाद एसीबी की टीम ने जाल बिछाया और एएसआइ को ₹5000 रिश्वत लेते आज गिरफ्तार किया। एसीबी की टीम उसे पकड़कर मुख्‍यालय ले गई है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) रांची की टीम ने गुरुवार को नामकुम थाने में पदस्थापित सहायक अवर निरीक्षक (एएसआइ) रवींद्र राम को पांच हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। वे पति-पत्नी के बीच सुलह के बावजूद केस डायरी में मदद करने के नाम पर शिकायतकर्ता संतोष कुमार से पांच हजार रुपये रिश्वत ले रहे थे कि एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया।

संतोष कुमार नामकुम थाना क्षेत्र के सामलौंग स्थित स्वर्णरेखा गार्डेन के फ्लैट नंबर 501-सी के रहने वाले हैं। उन्होंने एसीबी में शिकायत की थी कि उनका व उनकी पत्नी डाॅ. अंबिका सिंह के बीच पारिवारिक विवाद हो गया था। इस मामले में उनकी पत्नी ने उन पर नामकुम थाने में दहेज प्रताड़ना से संबंधित धारा में प्राथमिकी दर्ज करा दी थी। बाद में दोनों में समझौता हो गया और दोनों ने न्यायालय में शपथ पत्र के माध्यम से समझौते की जानकारी भी दे दी थी।

इसके बावजूद नामकुम थाने के जमादार रवींद्र राम केस डायरी आरोपित संतोष कुमार के पक्ष में लिखने के एवज में रिश्वत की मांग कर रहे थे। रिश्वत नहीं देने पर इनके विरुद्ध केस डायरी न्यायालय में दाखिल करने की बात कर रहे थे। संतोष कुमार की शिकायत पर एसीबी में 23 जून को प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

इसके बाद 24 जून को तय कार्यक्रम के अनुसार एसीबी ने नामकुम थाने के पास ही बनारसी ढाबे के पास रिश्वत लेते एएसआइ रवींद्र राम को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। एसीबी की टीम गिरफ्तार एएसआइ को लेकर एसीबी मुख्यालय पहुंची, जहां से न्यायालय में प्रस्तुत करने के बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजने की कवायद कर रही थी।

Edited By: Sujeet Kumar Suman