टंडवा (चतरा), जेएनएन। टंडवा पुलिस ने फर्जी कागजात से कोयला बेचने वाले एक गिरोह का उद्भेदन किया है। पुलिस ने गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है और तीन ट्रक कोयला जब्त किया है। जानकारी के अनुसार मगध आम्रपाली कोल परियोजना से कोल माफिया द्वारा सीसीएलकर्मी की मिलीभगत कर लंबे समय से फर्जी कागजात बनाकर कोयला बेचने का गोरखधंधा चला रहे थे। इसके पूर्व भी ऐसे खुलासे होते रहे हैं। लेकिन इस अवैध धंधे में शामिल मुख्य सरगना पकड़ में नहीं आया था। जिसके कारण काला खेल बदस्तूर जारी था और सरकार को करोड़ो रुपये के राजस्व का नुकसान हो रहा था।

पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर अवैध कोयला लदे तीन ट्रक चालक सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का उद्भेदन किया है। जब्त ट्रकों में ट्रक जेएच02 वाई 6048, जेएच 19 बी 9288 एवं बीआर 02जीए 8258 है। फर्जी कागजात से कोयला लोड कर चेक पोस्ट एक से निकलकर सिमरिया-चतरा की ओर जा रहा था। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आशुतोष सत्यम के निर्देश पर टंडवा-सिमरिया मुख्य मार्ग पर स्थित मिश्रौल गांव में चेकिंग अभियान चलाया गया।

जहां तीनों अवैध कोयला लदे वाहनों को जब्त कर ट्रक चालकों को हिरासत में लिया गया। जिसमें अब्दुल सिद्दीकी पिता उद्दीन मियां ग्राम बिजरा थाना हेरहंज जिला लातेहार, मोहम्मद शहजाद अंसारी उर्फ चीकू सीता मुनिया ग्राम नावाडीह थाना बालूमाथ जिला लातेहार, प्रदीप यादव पिता कैलाश यादव ग्राम बैंबू थाना बालूमाथ जिला लातेहार ,अरमान अंसारी पिता हनीफ अंसारी ग्राम नवादा थाना हेरंज जिला लातेहार ,मुनिया पिता स्वर्गीय सईद मियां ग्राम नावाडीह थाना बालूमाथ जिला लातेहार का नाम शामिल है।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप