रांची, जासं। 16 दिनों में ब्लड वॉरियर्स ने नया कीर्तिमान कायम किया है। लॉकडाउन की अवधि में 22 मार्च से वर्तमान तक 4643 यूनिट रक्त संग्रह किया है। राज्य में स्वैच्छिक रक्तदान में सहयोग करने वाले सभी स्वैच्छिक संगठन वैश्विक महामारी कोविड 19 के लॉकडाउन के दौरान भी खून की जरूरत वाले रोगियों के लिए ब्लड डोनेशन कैंप के माध्यम से रक्त संग्रह करने में मदद किया है।

यह प्रयास अत्यंत सराहनीय है। ब्लड बैंक कर्मियों ने आपातकालीन सेवा के रूप में रक्त की उपलब्धता सुनिश्चित करके राज्य के प्रति अपना समर्पण दिखाया है। बताते चलें कि थैलेसिमिया के अलावा सीकेलसेल, अप्लास्टिक एनेमिया, कैंसर, बर्निंग केस, डिलीवरी जैसे मामलों में भी ब्लड की जरूरत होती है। रक्त की उपलब्धता के कारण आज हम आपातकालीन मामलों और थैलेसीमिया जैसी चिकित्सा स्थितियों से पीड़ित लोगों की सेवा करने की स्थिति में हैं।

ये बातें झारखंड स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी के परियोजना निदेशक डॉ राजीव रंजन ने कही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी इस कार्य के प्रति संवेदनशील हैं और उन्होंने झारखंड के नागरिकों से अपील की है कि वे स्वेच्छा से रक्तदान करें, जबकि सामाजिक दूरियों के लिए आवश्यक सावधानी भी बरतें।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस