जागरण संवाददाता, रांची : रांची लोकसभा सीट के लिए सोमवार की सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक वोट डाले जाएंगे। इसको लेकर मोरहाबादी स्थित फुटबॉल मैदान से पोलिंग पार्टियों को उनके बूथों पर रवाना किया गया। 449 बूथों पर विशेष मॉनिटरिग के लिए वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा 22 सुपर जोनल, 60 से ज्यादा जोनल मजिस्ट्रेट और 338 माइक्रो ऑब्जर्वर बनाए गए हैं। कुल कलस्टर की संख्या 152 जबकि महिला बूथों की संख्या 21 है, वहीं 180 के करीब मॉडल बूथ हैं। क्यूआरटी टीम की होगी विशेष व्यवस्था :

जहा पर विधि-व्यवस्था के बिगड़ने की आशका है वहा क्यूआरटी की विशेष व्यवस्था की गई है। डीसी ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था को लेकर दो स्तर पर कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। राची जिले में प्रवेश करनेवाले सभी मार्गो में चेकनाका बनाए गए है। जो मतदान के दिन 24 घंटे ऑपरेशनल रहेंगे। साथ ही संबंधित थानों के प्रभारी होटल, लॉज, धर्मशाला और वाहनों की जाच करेंगे।

--

रिजर्व इवीएम की है व्यवस्था

बूथों के अलावा सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट को कम से कम एक-एक रिजर्व इवीएम दिया गया है। राची और हटिया में दो-दो सेट रिजर्व इवीएम दिए गए हैं। ऐसे इलाके जहा पर पहले समस्या आयी है या दुगर्म क्षेत्र हैं, वहा पर एक और अतिरिक्त इवीएम दिया जा रहा है, ताकि समस्या आने पर त्वरित समाधान किया जा सके। सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट की जीपीएस से ट्रेकिंग की जा रही है।

--

ब्लॉक ए में होगी कंट्रोल रूम की व्यवस्था

जिला निर्वाचन पदाधिकारी -सह- उपायुक्त ने बताया कि समाहरणालय राची के ए ब्लॉक में विधानसभावार कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसमें 200 से अधिक कर्मी लगाए गए हैं। प्रत्येक 15 बूथ पर फोन कर संबंधित व्यक्ति लगातार रिपोर्ट लेंगे। राची संसदीय क्षेत्र में कोई भी बाहरी व्यक्ति जो पॉलिटिकल कैंपेनिंग से जुड़ा है वो क्षेत्र में नहीं रह सकता।

मतदान के लिए कुछ संस्थानों द्वारा मतदान दिवस पर कर्मचारियों को छुट्टी नहीं दिए जाने की शिकायत मिलने पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि ये असंवैधानिक है। ऐसे संस्थानों पर सेक्शन 135 बी व लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा के तहत कार्रवाई की जाएगी।

--

स्टैटिक फोर्स की होगी व्यवस्था

वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता ने बताया कि सभी बूथों पर सुरक्षा के मद्देनजर स्टैटिक फोर्स की प्रतिनियुक्ति की गई है। हर बूथ पर एक पुलिस पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस बल की तैनाती की गई है। इनके साथ अलग से क्यूआरटी की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। एसएसपी ने मीडिया को बताया कि उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में केंद्रीय अ‌र्द्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है, अतिसंवेदनशील घोर उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में अलग से कोबरा और झारखंड जगुआर की टीम को तैनात किया गया है। ऑपरेशन कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस