जागरण संवाददाता, राची : राची, खूंटी, सिमडेगा समेत अन्य जिलों के कुल 32 प्रवासी मजदूरों को अंडमान निकोबार द्वीप समूह के पोर्ट ब्लेयर में मेसर्स सुरेंद्र इंफ्रा प्राइवेट लिमटेड ने बंधक बना लिया है। प्रवासी मजदूर रमेश साहु ने बताया कि 30 मई को जब वे पोर्टब्लेयर से घर वापसी के लिए अंडमान एयरपोर्ट पहुंचे तो बिल्डर ने उन्हें बंधक बना लिया और घर वापसी से रोक दिया।

उसने बताया कि बिल्डर की मिलीभगत से अंडमान निकोबार की पुलिस ने भी उन्हें एयरपोर्ट से खदेड़ दिया। प्रवासी मजदूर जगेश्वर साहु ने बताया कि बंधक बनाए गए मजदूरों में लापुंग प्रखंड के 12 प्रवासी मजदूर समेत झारखंड के कई जिलों के लगभग 150 प्रवासी मजदूर बंधक बना लिए गए हैं। उन्होंने बताया कि बिल्डर सुरेंद्र ने उन्हें बंधक बना रखा है। लॉकडाउन में काम-धंधा भी बंद है। सभी प्रवासी मजदूर अपने पैसे से अनाज खरीदकर खाना बना रहे हैं और खा रहे हैं। बिल्डर के पास कई प्रवासी मजदूरों का पैसा भी बकाया है। पैसे के अभाव में कई प्रवासी मजदूर भोजन के अभाव में घर वापसी के लिए सिसक-सिसक कर रो रहे हैं। प्रवासी मजदूरों ने यह भी बताया कि अंडमान में झारखंड के विभिन्न जिलों के लगभग 150 लोग लॉकडाउन में फंसे हुए हैं, जो अपने घर जाने लिए राज्य सरकार से आस लगाए हुए हैं।

प्रवासी मजदूर गोले साहु ने बताया कि बिल्डर ने कहा है कि सभी मजदूर वापस चले जाएंगे तो यहा काम कौन करेगा। बिल्डर के इस रवैए से सभी प्रवासी मजदूर असहाय हो चुके हैं।

::::::::::::::

काग्रेस महासचिव को कॉल कर बताया, बिल्डर ने उन्हें बंधक बनाया

प्रवासी मजदूरों ने सोमवार को झारखंड प्रदेश काग्रेस कमेटी (ओबीसी) के प्रदेश महासचिव शकर कुमार साहु को उनके मोबाइल पर कॉल कर बिल्डर द्वारा बंधक बनाए जाने की जानकारी दी है। प्रदेश महासचिव ने बताया कि बिल्डर उन्हें परेशान कर रहा है। सुरेंद्र इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में लापुंग प्रखंड के 12 प्रवासी मजदूर समेत कुल 32 प्रवासी मजदूर शामिल हैं। उन्हें न तो भरपेट भोजन नसीब हो रहा है और न ही घर वापस आने दिया जा रहा है। बताया कि वित्त मंत्री डॉ. रामेश्वर उराव को इस मामले की पूरी जानकारी दे दी गई है। उन्होंने कहा है कि जल्द ही प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए उचित कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि अंडमान में बंधक बनाए गए प्रवासी मजदूरों ने वहा के डीएम कार्यालय में पंजीयन कराने के लिए आवेदन भी जमा किया है। प्रवासी मजदूर गोले साहु ने मोबाइल नंबर 9474214087 से कॉल कर प्रवासी मजदूरों को बिल्डर द्वारा बंधक बनाए जाने की जानकारी दी और बताया कि घर वापसी के लिए उनके पास पैसे भी नहीं हैं। इधर, प्रवासी मजदूरों को बंधक बनाए जाने के बाद प्रदेश महासचिव ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता, प्रदेश काग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उराव व उपायुक्त राय महिमापत रे से बंधक बनाए गए प्रवासी मजदूरों को बिल्डर के चंगुल से मुक्त कराने, उन्हें अंडमान से वापस लाने व मजदूरों को भोजन की व्यवस्था उपलब्ध कराने की माग की है।

बंधक बनाए गए मजदूरों के नाम व मोबाइल नंबर

रमेश साहू : 09474214082

जगेश्वर साहु : 07063920287

गोले साहू : 09474214087

राजकिशोर साहु : 070639 20284

:::::::::

इन प्रवासी मजदूरों को बनाया बंधक

रमेश साहु, जगेश्वर साहु, गोले साहु, राजकिशोर साहु, मारवाड़ी उराव, देवेंद्र साहु, बिरला लोहरा, डोमरा साहु, मुन्ना झोरा, पौदोन सोरेन, सुकरा सोरेन, रूबेन सोरेन, राजू सोरेन, किशोर सोरेन, सोमा सोरेन, संतोष सोरेन, राजेश टेटे, अमित खड़िया, महिंद्र झोरा, जगना झोरा, कृष्णा झोरा, मनोज झोरा, संदीप धूम, डुंगडुंग, प्रमोद टेटे, मुकेश वेग, संजू कीड़ों, मोरेल केरकेट्टा, अमृत टेटे, जेरमिश डुंगडुंग, मंगू झोरा व सुधीर झोरा

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस