रांची, जेएनएन। उन्नत खेती का गुर सीखने मंगलवार को झारखंड के किसान इजरायल रवाना हो गए। 24 सदस्यीय किसानों का दल सुबह नौ बजे रांची एयरपोर्ट से रवाना हुआ। इससे पहले इजरायल रवाना होने वाले किसानों ने सोमवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास से उनके आवास में देर शाम मुलाकात की। सीएम ने किसानों को शुभकामनाएं देते हुए उनसे नए झारखंड के निर्माण में अपनी भूमिका सुनिश्चित करने को कहा। इस मौके पर सीएम ने किसानों के सम्मान में भोज भी दिया।

इजरायल दौरे पर जा रहे किसानों के दल का नेतृत्व पाकुड़ उपायुक्त कुलदीप चौधरी कर रहे हैं। टीम में डिप्टी डायरेक्टर विकास कुमार और रांची जिला भूमि संरक्षण पदाधिकारी अनिल कुमार भी शामिल हैं। किसानों को उन्नत खेती की जानकारी देने के लिए राज्य सरकार किसानों के दल को इजरायल भ्रमण करा रही है। केंद्र व राज्य सरकार के आपसी समन्वय से झारखंड के किसानों को आर्थिक रूप से समृद्ध और सशक्त बनाना सरकार का लक्ष्य है।

किसानों का दल मंगलवार की देर रात तेल अवीव पहुंचेगा। बुधवार को इजरायल के कृषि क्षेत्र में योगदान देने वाले सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ उनकी बैठक होगी। कम से कम जल का उपयोग कर भूमि की अधिक से अधिक उर्वरता बनाए रखने से संबंधित जानकारी किसानों को दी जाएगी।

 

ये किसान जा रहे इजरायल

अंबिका प्रसाद कुशवाहा (देवघर), राजेंद्र यादव (देवघर), जगदीश रजक (धनबाद), रघुनंदन कुमार (धनबाद), रमेश हांसदा (दुमका), राम प्रताप महतो (पूर्वी सिंहभूम), सिदम चंद्र मुर्मू (पूर्वी सिंहभूम), आनंद कुमार  (गढ़वा), धर्मेँद्र कुमार मेहता (गढ़वा), कुमार विवेकानंद (गिरिडीह), लक्ष्मण महतो (गिरिडीह), नीतीश आनंद (गोड्डा), शशिकर झा (गोड्डा), अनिम मिंज (गुमला), दिलीप कुमार (खूंटी), तुलसी महतो (खूंटी), मिथेन्द्र लकड़ा (लातेहार), अरुण चंद्र गुप्ता (रांची), सुखदेव उरांव (रांची), गनसु महतो (रांची), राजेश कुमार यादव (साहिबगंज), रमेशचंद्र रविदास (साहिबगंज), रमेश पूर्ति (पश्चिम सिंहभूम), मार्कस बोदरा (पश्चिम सिंहभूम) शामिल हैं।

बांस उद्योग से जुड़े कारीगर प्रशिक्षण के लिए जाएंगे वियतनाम

इधर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि बांस के 10 कारीगरों के एक दल को जल्द ही प्रशिक्षण के लिए वियतनाम भेजा जाएगा। वे वियतनाम जा कर यह देख सकेंगे कि नई तकनीक के माध्यम से बांस उद्योग को किस तरह बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि भारत के अलावा अन्य देशों में भी बांस आधारित उत्पाद की भारी मांग है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस