चतरा जासं। Water Supply System: शहर की जलापूर्ति(City ​​Water Supply) व्यवस्था भगवान भरोसे हो गई है। पिछले एक महीने से जलापूर्ति के लिए पेयजल(Drinking Water) एवं स्वच्छता प्रमंडल(Sanitation Circle) को जलापूर्ति के आउटसोर्सिंग कंपनी(Outsourcing Company) नहीं मिल रही है। 31 अक्टूबर को आउटसोर्सिंग कंपनी मेसर्स गणेश कुमार(Mesars Ganesh Kumar) का समय अवधि समाप्त हो गया। उसके बाद अब तक किसी दूसरे कंपनी को निविदा नहीं दिया गया। पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल ने इस बीच निविदा निकाला। लेकिन उस निविदा में कोई भी आउटसोर्सिंग कंपनी ने रूचि नहीं दिखाई।

मेसर्स गणेश कुमार कंपनी जलापूर्ति के प्रति नहीं दिख रही जवाबदेह:

परिणाम स्वरूप टेंडर को निरस्त कर दिया गया और फिर नए सिरे से निविदा निकाली गई है। निविदा में शिरकत करने की अंतिम तिथि तीन दिसंबर तक निर्धारित है। निविदा प्रक्रिया पूरा होने में कम से कम 15 दिनों का समय लगेगा। जब तक निविदा की प्रक्रिया पूरी नहीं होती है, तब तक वैकल्पिक व्यवस्था के लिए जलापूर्ति व्यवस्था पुरानी कंपनी को ही करने को कहा गया है। समय अवधि समाप्त होने के बाद से मेसर्स गणेश कुमार कंपनी जलापूर्ति के प्रति जवाबदेह नहीं दिख रही है।

शहर की जलापूर्ति व्यवस्था एक प्रकार से देखा जाए तो चरमराई हुई है। पिछले पांच दिनों से शहर में जलापूर्ति व्यवस्था ठप थी। पेयजल स्वच्छता प्रमंडल के अधिकारियों ने बताया कि पाइप लीकेज होने के कारण आपूर्ति व्यवस्था बाधित थी। लीकेज को दुरुस्त करने में पांच दिनों का वक्त लगा है।

आउटसोर्सिंग कंपनी मेसर्स गणेश कुमार का समय अवधि हो गया है समाप्त:

कार्यपालक अभियंता राज मोहन सिंह ने बताया कि व्यवस्था को बहाल कर लिया गया है। बुधवार से शहर की जलापूर्ति व्यवस्था दुरुस्त हो गई है। उन्होंने कहा कि आउटसोर्सिंग कंपनी मेसर्स गणेश कुमार का समय अवधि समाप्त हो गया है। नए सिरे से निविदा निकाली गई है। जैसे ही निविदा की प्रक्रिया पूरी होगी। संबंधित कंपनी को जल आपूर्ति का कार्य सौंप दिया जाएगा।

Edited By: Sanjay Kumar