रांची, जाब्यू। प्रवर्तन निदेशालय ने चिटफंड कंपनी डीजेएन ज्वेलर्स प्राइवेट लिमिटेड की एक करोड़, 87 हजार 203 रुपये की अचल संपत्ति को जब्त कर लिया है। इसे लेकर रांची, लातेहार एवं गढ़वा में कार्रवाई की गई है। फ्लैट दुकान व प्लॉट के रूप में कुल 11 संपत्तियों को जब्त किया गया है। जब्त संपत्ति चिटफंड कंपनी डीजेएन के प्रबंध निदेशक जितेंद्र मोहन सिन्हा व विपिन कुमार के अलावा, राम किशुन ठाकुर और विशाल कुमार सिन्हा के नाम पर हैं।

 पूर्व में ईडी ने इस चिटफंड कंपनी से संबंधित 1.66 करोड़ की चल-अचल संपत्ति जब्त की थी, जिस पर 31 दिसंबर 2019 को ईडी की एजुकेटिंग अथॉरिटी ने स्वीकृति दे दी थी। प्रवर्तन निदेशालय ने रांची के लालपुर थाने में चिटफंड कंपनी डीजेएन ग्रुप के खिलाफ वर्ष 2016 में प्राथमिकी व चार्जशीट के आधार पर कंपनी के मुख्य प्रबंध निदेशक जितेंद्र मोहन सिन्हा, विशाल कुमार सिन्हा, प्रशांत कुमार सिन्हा व इवाटोली संतोष के विरुद्ध मनी लौंड्रिंग एक्ट में केस दर्ज किया था। ईडी को अनुसंधान के दौरान यह जानकारी मिली कि डीजेएन कमोडिटिज मुंबई की एमसीएक्स कंपनी से पंजीकृत थी। इसके प्रोपराइटर विशाल कुमार सिन्हा थे।

 सभी आरोपितों ने एक साजिश के तहत मिल-जुलकर डीजेएन कमोडिटीज (ऑफलाइन) नाम से निवेशकों से रुपयों को आनलाइन बिजनेस के नाम पर जमा करवाया। यह झांसा दिया कि प्रति माह उच्च ब्याज देंगे। इसके बाद निवेशकों के पैसे को लेकर वे फरार हो गए। इस मामले में रांची के लालपुर थाने में भी एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें इस ग्रुप के आधा दर्जन बड़े पदाधिकारी पकड़े गए थे।

Edited By: Kanchan Singh