झुमरीतिलैया (कोडरमा), [अरविंद चौधरी]। कोरोना वायरस संक्रमण के शुरू हुए लगभग डेढ़ साल से ऊपर का समय गुजर चुका है। इसके कारण ट्रेनों में बंद की गई बेडरोल की सेवा लोगों को अभी मिलनी शुरू नहीं हुई है और न ही पैंट्री कार के ताजा खाना की सुविधा चालू की गई है। लेकिन अब रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी है। रेलवे में ई कैटरिंग सेवा शुरू के बाद जल्द ही ट्रेनों में सामान्य कैटरिंग पैंट्रीकार की सेवा बहाल की जा रही है।

सबकुछ ठीक रहा तो इस माह में रेल यात्रियों को ट्रेनों में पेंट्रीकार का ताजा खाना मुहैया हो सकेगा। वर्तमान में ट्रेनों में यात्रियों को रेडी टू इट खाने से काम चलाना पड़ता है। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक ट्रेनों की कैटरिंग सर्विस शुरू होने से लाखों रेल यात्रियों को खानपान की समस्या से राहत मिलेगी। इस बार खास यह है कि पेंट्रीकार में चूल्हे नहीं जलेंगे। ठेकेदार अपने बेस किचन में तैयार भोजन यात्रियों को परोसेंगे।

वीआइपी ट्रेनों से होगी शुरुआत

पहले चरण में देश की हाईस्पीड वीआइपी व राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों में यह सेवा बहाल की जाएगी। इसके बाद अन्य मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों में पेंट्रीकार शुरू की जाएगी। कोरोना की वजह से अभी वीआइपी समेत सभी ट्रेनों में कैटरिंग सर्विस बंद है। इसको बहाल करने की तैयारी की जा रही है। यात्रियों को रेडी टू इट की जगह ताजा भोजन परोसा जाएगा।

रेलवे बोर्ड से हो चुका है पत्राचार

रेलवे सूत्रों के अनुसार रेलवे बोर्ड को ट्रेनों में पेंट्रीकार सेवा बहाल करने की बाबत पत्राचार किया जा चुका है। यहां सुविधाओं को देखते हुए ई-कैटरिंग के बाद ट्रेनों की कैटरिंग शुरू करने को लेकर हरी झंडी देने पर विचार किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक सभी डिवीजन और आइआरसीटीसी के सीनियर ऑफिसर्स ट्रेनों की कैटरिंग सर्विस शुरू करने के लिए पहले ही रेलवे बोर्ड को पत्र लिख चुके हैं।

Edited By: Sujeet Kumar Suman