रांची, राज्य ब्यूरो। कांग्रेस विधायक डाॅ. इरफान अंसारी ने एक बार फिर प्रदेश नेतृत्व के खिलाफ मुखर होकर बयान देना शुरू किया है। इरफान ने बुधवार को कहा कि इस बात में कहीं से दो मत नहीं है कि प्रदेश में कांग्रेस के कार्यकर्ता खुद को छला हुआ महसूस कर रहे हैं और संगठन इस कारण से कमजोर हो रहा है। जिला अध्यक्षों से पूछने पर असलियत का पता चलता है। रामेश्वर उरांव द्वारा कैबिनेट मंत्रियों के कामकाज की सराहना किए जाने पर उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि कैबिनेट मंत्री ही खुद के काम को बेहतर बता रहे हैं, दूसरे लोग नहीं। इरफान ने विधायक दल के नेता आलमगीर आलम पर इशारों-इशारों में कहा कि जो लोग पश्चिम बंगाल चुनाव में स्टार प्रचारक बनकर गए थे, उन्हें हार की भी जिम्मेदारी लेनी होगी।

भाजपा राजभवन को राजनीति का अखाड़ा ना बनाए : कांग्रेस

झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और डाॅ. राजेश गुप्ता छोटू ने भारतीय जनता पार्टी को आगाह किया है कि वे राजभवन को राजनीति का अखाड़ा ना बनाएं। पूर्व की सरकार में धड़ल्ले से अवैध उत्खनन जारी था और अब ऐसे सभी मामले में एक-एक कर हो रही कार्रवाई से लोगों का ध्यान हटाने और जांच को प्रभावित करने की कोशिश ना करें। प्रवक्ताओं ने कहा कि अवैध उत्खनन को लेकर राजभवन का दरवाजा खटखटाने वाले ये वही लोग हैं, जिनके शासनकाल में शाह ब्रदर्स के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया गया, लेकिन वे चुपचाप मामले को दबाने में लगे रहे।