रांची, जासं। Dhara 144, Jharkhand Night Curfew राजधानी रांची में हर दिन कोरोना के मामले बेतहाशा बढ़ते जा रहे हैं। शहर में कोविड-19 के लिए लागू किए गए एसओपी, गाइडलाइन को व्यवहारिक तौर पर अनुपालन कराने और बिना मास्क चलने वाले लोगों पर जिला प्रशासन की सख्ती लगातार जारी है। रविवार को रांची शहर में अलग-अलग स्थानों पर कोविड-19 संबंधित दिशा निर्देशों के अनुपालन और बिना मास्क चलने वाले लोगों की जांच को लेकर अभियान चलाया गया। 

बिना मास्क चलने वालों को भेजा गया जांच केंद्र

शहर में चलाए गए मास्क जांच अभियान के दौरान मजिस्ट्रेट द्वारा बिना मास्क चलने वाले लोगों को जिला प्रशासन की गाड़ी में बैठा कर जांच केंद्र भेजा गया। ऐसे लोगों को जिला स्कूल स्थित जांच केंद्र भेजा गया। इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर इन्हें कोविड केयर सेंटर भेजा जाएगा। रांची जिला को 12 जोन में बांटकर कोविड-19 निर्देशों के अनुपालन और मास्क जांच के लिए मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है, जो लगातार शहर में अभियान चला रहे हैं। 

सागर प्रताप सिंह कार्यपालक अभियंता, एन आर ई पी 1 ने फिरायालाल चौक से कोकर चौक के बीच कुल 16 दुकानों की जांच की। धीरज कुमार परिक्ष्यमान उप समाहर्ता ने बिरसा चौक से तुपुदाना चौक तक 17 दुकानों, निशात अंजुम परिक्ष्यमान उप समाहर्ता ने करम टोली चौक से बूटी मोड़ तक 18 दुकानों, कोमल कुमारी परिक्ष्यमान उप समाहर्ता ने फिरायालाल चौक से राजेंद्र चौक तक 39 दुकानों/ प्रतिष्ठानों, अजय कुमार राज्य कर पदाधिकारी दक्षिणी अंचल ने राजेंद्र चौक से बिरसा चौक तक 14 दुकानों की जांच की।

फिरोज अहमद राज्य कर पदाधिकारी दक्षिणी अंचल ने सिरम टोली चौक से चुटिया एवं लोबाडीह तक कुल 31 दुकानों , शिव कुमार सिंह राज्य कर पदाधिकारी विशेष अंचल ने हॉट लिप्स चौक से चांदनी चौक 16 दुकानों, उज्जवल कुमार चौरसिया राज्य कर पदाधिकारी विशेष अंचल ने कचहरी चौक से अप्पर बाजार तक 29 दुकानों की जांच कर कोविड-19 अनुपालन से संबंधित मास्क चेकिंग अभियान चलाया। 

इस चेकिंग अभियान के दौरान मनीष कुमार परिक्ष्यमान उप समाहर्ता ने एचईसी गेट से धुर्वा बस स्टैंड क्षेत्र में कुल 27 दुकानों की जांच की। बिना मास्क के 8 लोगों को पकड़कर कोविड टेस्टिंग करवाया तथा उन्हें धुर्वा थाने में भविष्य में कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन न करने संबंधी शपथ भी दिलवाया। इस तरह अलग-अलग थाना क्षेत्रों के लिए अलग-अलग प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेटों ने आज अपने संबंधित क्षेत्र में अभियान चलाया।

बढ़ रहे मामले, हर गुजरते दिन के साथ बदहाल हो रहे हालात

राजधानी रांची में हर दिन कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। इसके बावजूद महामारी के प्रसार को रोकने के लिए जरूरी कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि राज्य सरकार की ओर से प्राप्त निर्देश के आलोक में काम हो रहा है। वर्ष 2020 के मार्च व अप्रैल महीने में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए संस्थागत और होम क्वारेंटाइन की व्यवस्था लागू की जा रही थी। बाहर से आने वाले लोगों को जिला प्रशासन की ओर से क्वारेंटाइन किया जा रहा था। 14 दिनों की समयावधि पूरी होने के बाद लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर से घर भेजे जाने का प्रावधान किया गया था।

वर्तमान में राजधानी रांची में क्वारेंटाइन सेंटर संचालित नहीं हो रहे हैं। अलग-अलग राज्यों से आने वाले लोग धीरे अपने घर और मुहल्ले में पहुंच जा रहे हैं। लोगों से मिल रहे हैं। ऐसे में पैदा होने वाले हालात का सहज अनुमान लगाया जा सकता है। एसडीओ समीरा एस ने कहा कि रांची में फिलहाल कोई क्वारेंटाइन सेंटर नहीं है। पूर्व में खेलगांव में बने क्वारेंटाइल सेंटर को चिकित्सा केंद्र में परिवर्तित कर दिया गया है। सरकार की ओर से इस बारे में अगर कोई गाइड लाइन मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए अलग मोड में काम करेगी पुलिस

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए रांची पुलिस कुछ अलग मोड पर काम करेगी। अब सतर्कता के साथ-साथ पूरी सावधानी भी बरता जाएगा। रांची के एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने निर्देश दिया है कि सभी थानों में विशेष सतर्कता के साथ अपराधियों को गिरफ्तार किया जाए। पीपीई किट पहनकर अपराधियों से पूछताछ हो। एसएससी के निर्देश पर हटिया एएसपी विनीत कुमार ने इस पर कार्रवाई शुरू कर दी है। सभी थानेदारों को इस निर्देश का अनुपालन का निर्देश दिया है।

ऐसे काम करेगी पुलिस

  • सड़क पर शुरू हुई विवाद सड़क पर ही समाप्त किया जाएगा।
  • ऑनस्पॉट कार्रवाई यह कार्रवाई करते हुए मामले का निपटारा किया जाएगा।
  • बिना वारंट अपराधियों की गिरफ्तारी तभी होगी जब वह गिरफ्तारी से संबंधित मामलों का अभियुक्त होगा।
  • घटनास्थल पर वैसे ही वादी को पुलिस अपने साथ ले जाएगी जो खुद जाने के लिए सक्षम ना हो।
  • किसी वारंटी या अभियुक्त को गिरफ्तार किया जाता है, तो गिरफ्तार करने वाली टीम ही उनसे पूछताछ करेगी, दूसरे पुलिस पदाधिकारी पूछताछ नहीं करेंगे। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021