रांची, जासं। No Need to Entry in Register for Staying in Hotels अब होटलों में प्रवेश करते समय पेन, पेपर और रजिस्टर की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और लोगों को हाेटलों में ठहरने के लिए रजिस्‍टर में एंट्री करने की भी जरूरत नहीं होगी। साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट दीपक कुमार ने "ई रेस्टुरेंट" नाम का एप विकसित किया है। इस एप को पुलिस को सौंपने के लिए जानकारी दी गई है। इस एप पर डिजिटल प्लेटफार्म पर आधारित होटलों में प्रवेश मिलेगी।

यह एप होटल वाले और पुलिस वाले के मोबाइल में लोड होगा। अगर ग्राहक चाहे तो वह भी इसे लोड कर सकता है। कस्टमर अपना आधार कार्ड होटल को देगा। होटल मालिक बारकोड के माध्यम से उसे स्कैन करेगा। स्कैन करते ही नाम पता, डेट ऑफ बर्थ अपने आप कंप्यूटर पर अंकित हो जाएगा। जितने लोग कमरे में रहेंगे, सभी का बारी-बारी से स्कैन करना होगा। उसके बाद होटल स्टाफ एप में रूम नंबर और मोबाइल नंबर अंकित करेगा।

अंकित करने के बाद तुरंत इसकी सूचना कस्टमर के मोबाइल पर कमरा नंबर के साथ मिल जाएगी और साथ ही नजदीकी पुलिस स्टेशन को भी इसका पता चला जाएगा। इस एप के माध्यम से पुलिस को तुरंत सूचना प्राप्त हो जाएगी कि इस एरिया में कितने लोग रुके हुए हैं। किस होटल में कितने लोग रुके हुए हैं और कितने दिनों से रुके हुए हैं। उनका नाम, पता, मोबाइल नंबर और आधार नंबर क्या है। पुलिस के पास यह सुविधा भी होगी कि सिर्फ आधार नंबर से वह ट्रैक कर लेगी कि यह व्यक्ति कहां-कहां, किसके साथ रुका है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021