रांची, राज्य ब्यूरो। Coronavirus Vaccination LIVE, COVID-19 Vaccination in Jharkhand कोरोना वायरस महामारी से लड़ रहे देश के लिए आज अहम दिन रहा। सफाइकर्मी-स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों समेत फ्रंटलाइन कोरोना वारियर्स को आज कोविशील्‍ड कोरोना वैक्‍सीन के टीके दिए गए। इसके लिए झारखंड में पुरजाेर तैयारी की गई थी। यहां 48 टीकाकरण केंद्रों पर प्रति सेंटर 100 के हिसाब से कुल 4800 लोगों को कोरोना के टीके दिए गए। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही रांची में मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने टीकाकरण अभियान की औपचारिक शुरुआत की। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता को बिना टीका लगवाए ही वापस लौटा दिया गया। उन्‍हें सरकार ने स्‍वास्‍थ्‍यक‍र्मी नहीं माना और टीका लगाने से रोक दिया गया। सबसे पहले टीका लगवाने वाले सफाईकर्मी ने कहा कि इस खतरनाक और जानलेवा बीमारी से बचाव के लिए टीका देकर सरकार ने उनकी जान बचाई है। यह वैक्‍सीन देश के लिए वरदान है।

चींटी काटने जैसी चुभन, नहीं हुई कोई परेशानी

सैकड़ों कोरोना मरीजों का सफल इलाज करनेवाले रांची मेडिका अस्पताल के चिकित्सक  डा. विजय मिश्रा ने भी कोरोना का टीका लिया। ये रांची सदर अस्पताल में टीका लेनेवाले दूसरे हेल्थ वर्कर थे। टीका लगने तथा आधे घंटे पर्यवेक्षण में रहने के बाद उन्होंने कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है। जैसे सामान्य इंजेक्शन में चींटी काटने जैसा अहसास होता है, बिल्कुल वैसा ही अनुभव हुआ। इससे अधिक कुछ नहीं। कोई साइड इफेक्ट नहीं। उन्होंने लोगों से बगैर डरे टीका लगवाने की अपील की। उन्होंने कहा कि निजी अस्पताल भी टीकाकरण के लिए तैयार है। सभी जगह ड्राइ रन हो गया है। सरकार का निर्देश आने के बाद निजी अस्पताल में भी टीकाकरण शुरू हो जाएगा।

फार्मासिस्ट ने टीका लगवाने के बाद की ड्यूटी

ऑल झारखंड पारा मेडिकल एसोसिएशन के महासचिव सह फार्मासिस्ट उपेंद्र कुमार ङ्क्षसह ने रांची सदर अस्पताल में कोरोना का टीका लगावाने के बाद ड्यूटी भी की। दो बजे से पहले टीका लगावाया, जबकि तीन बजे से उनकी रांची सदर अस्पताल में ही ड्यूटी थी। उन्होंने कहा कि टीका लगवाने के दौरान उन्हें किसी प्रकार की तकलीफ नहीं हुई। न ही बाद में ही कोई परेशानी हुई। वे अपना काम पूर्व की तरह करते रहे। उन्होंने सभी पारा मेडिकल कर्मियों से टीका लगवाने की अपील करते हुए कहा कि यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है।

सफाई कर्मचारी मरियम गुडिय़ा को लगा पहला टीका

राज्य में टीकाकरण की शुरुआत शनिवार को रांची के सदर अस्पताल से हुई । 11:22 बजे सदर अस्पताल में यहां के फीजियोथेरेपी डिपार्टमेंट की सफाईकर्मी मरियम गुडिय़ा को पहला टीका लगाया गया। मरियम ने कहा कि यह मेरे जीवन का सबसे अनमोल दिन है। 2013 से रांची के सदर अस्पताल में कार्यरत हूं। सबसे छोटा कर्मचारी होने के बाद भी टीका देने के लिए सबसे पहले मेरा चयन किया गया, यह मेरे लिए गर्व का दिन है। मरियम ने कहा कि उसका एक 10 साल का लड़का है। कोविड के दौरान हर दिन अस्पताल आना होता था। कोविड के समय में जब अस्पताल आती थी तो मुझे अपने बेटे के लिए चिंता होती थी। बस उसी के लिए डर लगता था। इसके बाद भी काम करती थी। मरियम ने बताया कि बहुत खुशी हो रही है। टीका लगने के बाद कोई दिक्कत नहीं हुई है। एकदम नार्मल हूं। डेढ़ घंटे के बाद भी किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई है।

राज्यपाल ने दी बधाई, कहा-मास्क व दो गज दूरी का करते रहें पालन

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने झारखंड सहित पूरे देश में व्यापक पैमाने पर कोरोना टीकाकरण प्रारंभ होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सभी को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि हमारे वैज्ञानिकों के अथक प्रयास व मेधा से कोरोना का टीका आ गया है और लोगों को लगना भी शुरू हो गया है। उन्होंने इसके बावजूद सभी से अभी भी मास्क पहनने एवं दो गज की दूरी का पालन करने की अपील की है।

कोरोना वायरस से लड़ रही दुनिया के लिए आज बड़ा दिन है। विश्‍व के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में शनिवार को लाखों कोरोना वारियर्स को कोविशिल्‍ड टीका दिया जा रहा है। समूचे देश के साथ झारखंड के इंतजार की घडिय़ां भी खत्म हो गई हैं। सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के लिए शनिवार को सुबह साढ़े दस बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के 48 केंद्रों पर कोरोना टीकाकरण अभियान की लांचिंग की।

आज झारखंड के प्रत्येक जिले के चिह्नित दो-दो केंद्रों पर इस अभियान का शुभारंभ हुआ। राज्य में पहला टीका अस्पताल में कार्य करनेवाले सफाई कर्मी को दिया गया। शुरुआत में चिकित्सकों एवं अस्पतालों के सफाई कर्मियों को कोरोना का टीका दिया गया। चूंकि प्रत्येक केंद्रों पर हर दिन सौ-सौ लाभुकों को टीका दिया जाना है, इसलिए पहले दिन 4,800 लाभुकों को टीका दिया जाएगा। रांची के सदर अस्‍पताल और नामकुम में चिह्नित चिकित्‍सकों और सफाईकर्मियों को कोरोना का टीका दिया गया।

02:00 PM : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि यह टीका देश के लिए वरदान साबित होगा। यह सिर्फ टीका नहीं, बल्कि कोरोना महामारी से जंग लड़ने का हथियार है। केंद्र के निर्देश के अनुसार, कोरोना टीकाकरण का और विस्तार होगा। अभी 1.50 लाख हेल्थ वर्कर को टीका लगना है। इसके बाद दो लाख फ्रंट लाइन वर्कर को टीका लगेगा। इसके बाद 50 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोरोना से प्रतिरक्षित किया जाएगा।

01:30 PM : मेरे जीवन का सबसे अनमोल दिन

राज्य में टीकाकरण की शुरुआत शनिवार को रांची के सदर अस्पताल में हुई । 11:22 बजे सदर अस्पताल में यहां के फीजियोथिरेपी डिपार्टमेंट की सफाईकर्मी मरियम गुड़िया को पहला टीका लगा। मरियम ने कहा कि यह मेरे जीवन का सबसे अनमोल दिन है। 2013 से रांची के सदर अस्पतालम में कार्यरत हूं। सबसे छोटी कर्मचारी होने के नाते भी टीका देने के लिए सबसे पहले मेरा चयन किया गया, यह मेरे लिए गर्व का दिन है।

01:00 PM : डॉ विजय मिश्रा को लगा दूसरा टीका, कहा वैक्सीन से लोगों को डरने की जरूरत नहीं

सदर अस्पताल में कोरोना का दूसरा टीका मेडिका अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ विजय मिश्रा को लगाया गया। वैक्सीनेशन के बाद उन्होंने कहा कि मैं पूरी तरह स्वस्थ हूं। किसी तरह का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं हुआ। लोगों में वैक्सीन को लेकर काफी भ्रांतियां है, इसे दूर करने की जरूरत है। हर किसी को टीका लगाना चाहिए। विजय मिश्रा ने कहा कि जैसे-जैसे समय बीतता है, डर समाप्त हो जाता है। इस एक साल में धीरे-धीरे कोविड का डर लोगों के मन से समाप्त हो गया। इसका यह मतलब नहीं है कि कोविड समाप्त हो गया है।

12:30 PM : सिमडेगा में टीकाकरण का हुआ शुभारंभ

सिमडेगा जिले में कोविड टीकाकरण की शुरुआत की गई। पहला टीका डॉक्टर सीए खाका को दिया गया। जिले में सदर अस्पताल व सीएचसी कोलेबिरा में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। पहले दिन 200 लोगों को टीका दिया जाएगा। इधर टीकाकरण केंद्र में वेटिंग रूम, रजिस्ट्रेशन रूम, वैक्सिनेशन रूम व ऑब्ज़र्वेशन रूम बनाया गया है। टीकाकरण के बाद सभी को आधे घंटे के लिए ऑब्ज़र्वेशन रूम में रखा जाएगा।

12:00 PM : मेडिका के डॉक्‍टर विजय मिश्रा ने कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है। टीकाकरण के दौरान चीटीं काटने जैसा लगा। कोई साइड इफेक्ट नहीं है। मुझे टीका लगने में एक घंटा हो गया है। लोग बिल्कुल न डरें। टीका लगवाएं। डॉ विजय मिश्रा रांची सदर अस्पताल में टीका लेनेवाले दूसरे हेल्थ वर्कर हैं। स्वयं कई कोरोना मरीजों का इलाज कर चुके हैं।

11:40 AM : कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि आज इस वैश्विक महामारी में यह टीका देश के लिए एक वरदान साबित होगा। आज यहां टीकाकरण कार्यक्रम जिन्होंने हमारे समक्ष वैक्सीन लगवाई है, वे बधाई के पात्र हैं। कहा कि आधे घंटे तक उन पर नजर रखनी है और किसी को कोई साइड इफेक्ट ना हो या किसी को कोई दूसरी समस्या उत्पन्न ना हो, इस बात की निगरानी रखी जा रही है। इस टीकाकरण के दौरान जो भी एहतियात बरतने हैं, वह सभी बरते जा रहे है। यहां किसी को कोई दूसरी समस्या उत्पन्न ना हो, इस बात की निगरानी रखी जा रही है।

11:20 AM : रांची सदर अस्‍पताल में सफाई कर्मचारी मरियम गुड़िया को कोरोना का पहला वैक्सीन लगाया गया है। वैक्सीनेशन सेंटर में सीएम हेमंत सोरेन के साथ सिविल सर्जन डॉक्टर वीबी प्रसाद समेत अन्य चिकित्सक मौजूद हैं। इधर, रामगढ़ के दो वैक्सीनेटर सेंटर में महिला सफाईकर्मी को पहला टीका लगा है। रामगढ़ सदर अस्पताल में उपायुक्त संदीप सिंह ने फीता काटकर इसका उद्घाटन किया। रामगढ़ सदर अस्पताल में पहला टीका सफाईकर्मी लखनी देवी व दूसरा टीका महिला चिकित्सक डॉ सविता वर्मा को लगा। मेडिका अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ विजय मिश्रा को कोरोना वैक्सीन लगा।

11:10 AM : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सदर अस्‍पताल पहुँच गए हैं। यहां थोड़ी ही देर में वैक्सीनेशन शुरू होगा।

10:50 AM : सुबह 7:30 बजे मिली टीकाकरण की जानकारी, स्वास्थ्य केंद्र से आया फोन

रांची में बने कोविड-19 टीका सेंटर में से एक नामकुम स्वास्थ्य केंद्र भी है। यहां पहली पंक्ति के कोरोना वारियर स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन दी जानी है। बताया जा रहा है कि आशा देवी को सबसे पहला कोरोना का वैक्सीन लगाया जाएगा। हालांकि संस्थान के निदेशक ने कहा कि लिस्ट में नाम ऊपर नीचे हो सकता है। वैक्सीनेशन के लिए पहुंचने वाले कर्मचारियों और स्वास्थ्य कर्मियों को पहले पूरी तरह सैनिटाइज किया जा रहा है। वैक्सीनेशन का कार्यक्रम 11:00 बजे के बाद शुरू होना है। इसे लेकर स्वास्थ्य केंद्र में सभी डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मी पहुंच गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नामकुम के निदेशक ने बताया कि टीकाकरण के बाद व्यक्ति को आधे घंटे आराम करना है। इसकी व्यवस्था स्वास्थ्य केंद्र में की गई है।

मुख्यमंत्री के स्वागत में खड़े कलाकार।

10:30 AM : कुछ देर में मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन सदर अस्‍पताल पहुंचने वाले हैं। थोड़ी देर में झारखंड में कोरोना टीकाकरण की लॉंचिंग होगी। मुख्यमंत्री कार्यक्रम स्थल पहुंच गए हैं। इधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन शुरू हो गया है। पीएम ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है। इसके लिए देशवासियों को बधाई।

10:00 AM : नामकुम टीकाकरण सेंटर पर कोविड-19 के टीकाकरण की तैयारी शुरू हो गई है। यहां गहमागहमी दिख रही है। डाॅक्टर बता रहे हैं कि यहां टीकाकरण 11:00 बजे से शुरू होगा। पहला टीका आशा देवी को लगाया जाएगा।

9:40 AM : रांची के नामकुम सीएचसी में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर तैयारी पूरी हो गई है। इधर, रांची के सदर अस्पताल में कोरोना टीकाकरण अभियान की लॉंचिंग के लिए पूरी तैयारी हो गई है। यहां अस्पताल की सफाई कर्मचारी मरियम गुड़िया को पहला टीका लगेगा।

9:10 AM : 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को ही लगेगा टीका

जानिए टीकाकरण के लिए जरूरी सावधानियां

  • 1.40 लाख हेल्थ वर्करों का रजिस्ट्रेशन अभी तक कोविन पोर्टल पर हुआ है।
  • 6,816 टीका कर्मियों को टीका देने के लिए प्रशिक्षण दिया गया है।

  • 275 कोल्ड चेन सेंटरों को निर्धारित तापमान में टीका रखने के लिए सु²ढ़ किया गया है।

  • 48 टीका केंद्रों पर कुल 240 (प्रत्येक केंद्रों पर पांच) प्रशिक्षित टीकाकर्मी तैनात किए गए हैं।

9:00 AM : सदर अस्पताल, रांची वैक्सीनेशन सेंटर लाइव

  • 4 कमरों का वैक्सीनेशन सेंटर बनाया गया है सदर अस्पताल में।
  • 100 सफाई कर्मियों व चिकित्सको को लगेगा पहले दिन कोरोना का टीका।
  • 2 सेंटरों में होगी वैक्सिनेशन, सदर अस्पताल के अलावा नामकुम सीएचसी में भी की गई है व्यवस्था।
  • 10:30 बजे प्रधानमंत्री कर सकते है सदर अस्पताल में वैक्सीन लगने वालों से ऑनलाइन बात, जानेंगे कैसा रहा अनुभव।
  • 5 सेंटर बनाया गया है रांची में, सदर अस्पताल, रिम्स, नामकुम सीएचसी, रातू सीएचसी और मेडिका अस्पताल।

8:50 AM : सदर अस्पताल में क्या क्या हुई है तैयारियां

  • प्रधानमंत्री के वैक्सीनेशन महाअभियान के उद्घाटन के लिए लगाया गया है 2 एलईडी स्क्रीन, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे देश भर के वैक्सीनेशन सेंटरों से।
  • कार्यक्रम स्थल के लिए किए जा चुके है मजिस्टेट की प्रतिनियुक्ति,  नामकुम में 7 मेजिस्टेट तैनात।
  • वैक्सीनेशन सेंटर में शांति व्यवस्था बनाए रखने लिए पर्याप्त संख्या में किए गए है सुरक्षा व पुलिस बल तैनात।
  • 50 से अधिक वॉलंटियर रहेंगे अस्पताल परिसर में, सभी के लिए आईडी कार्ड की व्यवस्था की गई है।

8:40 AM : कैसे लगेगा वैक्सीन, ऐसे समझें

  • लोगों के अस्पताल पहुंचते हैं उन्हें पहले बैठाया जाएगा वेटिंग एरिया में।
  • रजिस्ट्रेशन के बाद दूसरे कमरे में दिया जाएगा वैक्सीन।
  • वेटिंग एरिया में शिफ्ट कर आधे घंटे तक किया जाएगा ऑब्जर्वेशन।
  • तबीयत बिगड़ने पर एईएफआई रूम में भर्ती कर किया जाएगा इलाज।

8:30 AM : सफाईकर्मियों से महाअभियान की शुरुआत

देशभर में चलने वाले कोरोना टीकाकरण महाअभियान के लिए सदर अस्पताल पूरी तरह तैयार है। अस्पताल परिसर में सुबह 10:30 बजे से प्रधानमंत्री द्वारा शुभारंभ करने के बाद टीकाकरण शुरू हो जाएगा। लोगों को टीका लगवाने या टीका को लेकर किसी तरह की संशय ना रहे इसके लिए सदर अस्पताल के चिकित्सक पहले टीका लगवाने वाले हैं।  शुरुआत भले ही सफाई कर्मचारी से होगी, लेकिन दिनभर में सदर अस्पताल में कार्यरत 18 चिकित्सकों को भी कोरोना का टीका लगेगा। इसमें अस्पताल की चिकित्सा पदाधिकारी डॉ रंजू सिन्हा, उपाधीक्षक डॉ सव्यसाची मंडल, डॉ मयुक कुमार, डॉ अखिलेश कुमार झा, डॉ उषा, डॉ स्वाति चैतन्या समेत अन्य टीकाकरण के लिए तैयार है। सूची में दर्जनभर सफाईकर्मियों का भी नाम शामिल है, हालांकि किसे पहले टीका लगाया जाएगा इसका नाम अभी स्पष्ट नहीं है।

8:20 AM : चिकित्सकों को टीका लगने से दूर होगा लोगों का संशय

सदर अस्पताल के चिकित्सा उपाधीक्षक डॉ सव्यसाची मंडल ने कहा कि जिन चिकित्सको को आज टीका लगाने वाला है सभी में इसे लेकर थोड़ी बेचैनी जरूर है। लेकिन यह भी लोगों की सेवा पहले पायदान ने आकर करने का सौभाग्य है। उन्होंने कहा कि अभी लोगों के मन में यह दर है कि कहीं वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट तो नहीं। ऐसे में उन सभी का संशय भी दूर होगा।

8:10 AM : वैक्सीनेशन महाअभियान : थोड़ी घबराहट जरूर लेकिन वैक्सीनेशन की खुशी भी

कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों में काफी उत्साह है। सभी वैक्सीनेशन की राह देख रहे। ऐसे में सबसे पहला नंबर हैल्थ केयर वर्कर यानी डॉक्टर, नर्स और दूसरे स्वास्थ्य कर्मियों का है। सदर अस्पताल के डॉ अजित इनमें से एक है। डॉ अजित ने वैक्सीन लेने को लेकर अपनी खुशी जाहिर की है। बताया वैक्सीनेशन के लिए पहले उनका रजिस्ट्रेशन किया गया था। एक दिन पूर्व अस्पताल प्रबंधन ने फोन कर वैक्सीनेशन की जानकारी दी। नामांकन के बाद मोबाइल में कन्फर्मेशन मैसेज मिला। डॉ अजित ने कहा सुबह का इंतजार है, जब प्रधानमंत्री द्वारा देश भर के सबसे बड़े टीकाकरण महाअभियान की शुरुआत के बाद टीका लगाया जाएगा। इधर, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ सव्यसाची मंडल, स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ स्वाति चैतन्या समेत अस्पताल के 18 कर्मियों का नाम भी वैक्सीनेशन की सूची में है। सभी वैक्सीन को लेकर काफी उत्साहित है।

8:00 AM : सदर अस्पताल के डॉ अजित को भी आज मिलने वाला है टीका, इनका नाम सूची में शामिल

रांची के सदर अस्‍पताल में आज जिन लोगों को कोरोना वायरस वैक्‍सीन दिया जा रहा है उनमें डॉ अजित कुमार, डॉ सव्यसाची मंडल, डॉ मयुक कुमार, डॉ मोहम्मद जसिम आज़ाद, डॉ दयानंद सरस्वती, डॉ स्वाति चैतन्या, डॉ वत्सल लाल, डॉ सीमा स्वराज, डॉ मुजामिल, डॉ अखिलेश कुमार झा, डॉ रंजू सिन्हा, डॉ उषा सिंह, डॉ आरके पासवान, डॉ स्वेता सिंकु, डॉ कुमार अभिषेक, डॉ अनिल कुमार खेतन, डॉ शिप्रा शरण, डॉ विकास वल्लभ शामिल हैं।

7:40 AM : केंद्रों पर स्वास्थ्य कर्मचारियों के पहुंचने का सिलसिला प्रारंभ

राजधानी रांची के सदर अस्पताल और नामकुम में कोराना वायरस वैक्‍सीनेशन प्रक्रिया संचालित की जा रही है। दोनों ही केंद्रों पर स्वास्थ्य कर्मचारियों के पहुंचने का सिलसिला प्रारंभ हो गया है। सुरक्षाकर्मी भी मुस्तैदी से खड़े हो गए हैं। कोरोना महामारी के दौरान बीमारी से मुकाबले के लिए जिस तरह से स्वास्थ्य कर्मचारी, सफाई कर्मचारी बढ़-चढ़कर आगे आए। एक बार फिर वही जोश और उत्साह देखने को मिल रहा है। सरकार के निर्णय के अनुसार महामारी से मुकाबले के लिए अग्रिम पंक्ति में खड़े होने वाले लोगों को पहले चरण में वैक्सीन दी जा रही हैं। इसको लेकर लोगों में भारी उत्साह है।

7:20 AM : आधे घंटे पहले केंद्र पर पहुंचेंगे चिन्हित कर्मचारी, आधे घंटे बाद तक रुकेंगे

कोविड-19 वैक्सीन लेने के लिए चिन्हित किए गए कर्मचारी निर्धारित समय से आधे घंटे पहले केंद्र पर पहुंचेंगे। वैक्सीन लेने के बाद आधे घंटे तक केंद्र पर रुकेंगे। दरअसल, वैक्सीनेशन की प्रक्रिया के दौरान यहां अनिवार्य किया गया है कि वैक्सीन लगने के बाद करीब आधे घंटे तक संबंधित व्यक्ति के स्वास्थ्य पर आधे घंटे तक नजर रखी जाएगी। इसके लिए उसे केंद्र के अंदर ही रहना होगा। इस दौरान सभी आवश्यक चिकित्सा सुविधाएं केंद्र के अंदर उपलब्ध कराई गई। अलग से चिकित्सकों की तैनाती की गई है। यह वैक्सीनेशन के बाद लोगों के स्वास्थ्य के बदलाव पर नजर रखेंगे। केंद्र के अंदर एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गई है।

7:10 AM : वैक्सीन सेंटर पर चाक-चौबंद व्यवस्था

वैक्सीनेशन के लिए केंद्रों पर अलग अलग कक्ष बनाया गया है। एक कमरे में वैक्सीनेशन करवाने वाले लोगों को रखा जाएगा। इसकी व्यवस्था की गई है। केंद्र में तैनात किए गए सभी स्वास्थ्य कर्मियों चिकित्सकों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए पूरे सुरक्षा मानकों का पालन करने के लिए कहा गया है। कर्मचारी पूरी वेशभूषा में नजर आ रहे हैं। वैक्सीनेशन के लिए आने वाले लोगों के बीच शारीरिक दूरी कायम रखने के लिए भी इंतजाम किए गए हैं। लोगों को पहचान पत्र अपने साथ लाना पड़ रहा है। केंद्र पर पहुंचने के बाद पंजीकरण संख्या की जांच हो रही है। इसके बाद अंदर प्रवेश दिया जा रहा है।केंद्र के अंदर किसी तरह की अव्यवस्था ना हो इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है।

7:00 AM : वैक्सीन लेने वाले लोगों के परिवार के सदस्य भी पहुंचे

पहले दिन जिन लोगों को वैक्सीनेशन के लिए चयनित किया गया है, उनके साथ साथ कई लोगों के परिवार के सदस्य भी केंद्र पर पहुंच रहे हैं। दरअसल यह लोग इस ऐतिहासिक पल के गवाह बनना चाहते हैं। उन्हें लगता है कि परिवार का कोई व्यक्ति पहली बार किसी बड़े कार्य के लिए चयनित किया गया है। लोगों के अंदर गजब का उत्साह देखा जा रहा है।

6:50 AM : खत्म हुआ, 10 माह का इंतजार, चंद घंटों में लगेगी कोविड-19 की वैक्सीन

इंतजार की घड़ियां खत्म हुई। कोरोना महामारी की वैक्सीन बस चंद घंटों में लगने वाली है। 10 माह का लंबा इंतजार आखिरकार खत्म हुआ। मार्च में आई कोविड-19 की बीमारी के खात्मे के लिए पूरी दुनिया वैक्सीन का इंतजार कर रही थी। वैज्ञानिकों की मेहनत से मानवता की रक्षा का अचूक अस्त्र आखिरकार तैयार कर लिया गया। राजधानी रांची में कोरोना महामारी की वैक्सीन लगाने की तैयारी पूरी कर ली गई है।

6:40 AM : आज इन्हें लगेगी वैक्सीन, पहले दिन इन्हे लगेगा टीका

डॉ अजित कुमार, डॉ मयुक कुमार, डॉ सव्यसाची मंडल, डॉ अखिलेश कुमार झा, डॉ रंजू सिन्हा, डॉ उषा सिंह, डॉ मोहम्मद जसिम आज़ाद, डॉ दयानंद सरस्वती, डॉ स्वाति चैतन्या, डॉ वत्सल लाल, डॉ सीमा स्वराज, डॉ मुजामिल, डॉ आरके पासवान, डॉ स्वेता सिंकु, डॉ कुमार अभिषेक, डॉ अनिल कुमार खेतन, डॉ शिप्रा शरण, डॉ विकास वल्लभ, ट्रेसा मिंज, माधुरी कुमारी, कुंजू कुमारी, सुशीला कुजूर, नीलिमा नाथी सरकार, मेहरानी पन्ना, ट्रेसा हेंब्रम, सुषमा खलखो, लीलावती तिर्की, पूनम रानी, किनी पिटर, मंजू किंडो, नीता टोप्पो, मंजू प्रेमा तिग्गा, जूही अंजलि तिग्गा, आभा टोप्पो, नीतू कुमारी, प्रेमलता टोप्पो, अर्चना खलखो, सुशील कुमार मेहता, संतोष कुमार मंडल, सोनाली एक्का, फुलित टोप्पो, फ्लोरिश भेंगरा, मंजू किंडो, मंजू प्रेमा तिग्गा, नीता टोप्पो, शानी सुनिला खलखो, जिरेन शंतिलता कुंडुलना, रेशमी लुगुन, सुमन देवी, मरियम गुरिया,  मीणा टोप्पो, संतेश्वर कुमार यादव, अर्पणा मिंज, उपेन्द्र कुमार सिंह, अरविंद कुमार आनंद, प्रकाश मेहता, अनिल प्रसाद, उप्पल बाहा भेंगरा, अनिल कुमार सिंह, अरविंद कुमार सिंह, जसवंत कुमार महतो, चांद देव राम, संजय कुमार, रामाशीष शर्मा, रमेश हजाम, सुखदेव उरांव, चंदन कुमार सिंह, हरिकृष्ण सिंह मुंडा, चंद्रशेखर आज़ाद और पुनमा रानी।

6:30 AM : झारखंड में 129 साइट हैं तैयार

कोरोना टीकाकरण अभियान की लांचिंग का मुख्य कार्यक्रम रांची सदर अस्पताल में होगा। इस कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन तथा स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता भी शामिल होंगे। प्रधानमंत्री जहां वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से इस अभियान का शुभारंभ करेंगे, वहीं वे लाभुकों से बात भी करेंगे। इसी तरह की व्यवस्था जमशेदपुर के एमजीएम में भी की गई है। राज्य सरकार ने हालांकि 129 साइटों पर टीकाकरण की तैयारी की है, लेकिन अभी प्रत्येक जिला के दो-दो केंद्रों कुल 48 केंद्रों पर ही टीका पड़ेगा। हालांकि केंद्रों में बदलाव हो सकेगा।

6:00 AM : जिनका रजिस्ट्रेशन उन्हें ही टीका

कोरोना टीका उन लाभुकों को ही दिया जाएगा, जिनका कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन पहले से है। टीकाकरण हेतु जिन लाभार्थियों का रजिस्ट्रेशन हुआ है, उन्हें एसएमएस के माध्यम से आवंटित साइट और समय की जानकारी दे दी गई है। 

5:30 AM : सबसे पहले पीएम और सभी राज्यों के सीएम लगाएं टीका : हेमंत

शनिवार से पूरे देश में कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू होना है। इस बीच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में कहा है कि टीका को लेकर लोगों की शंकाओं को दूर करने का सबसे सीधा और सरल उपाय है कि सबसे पहले प्रधानमंत्री और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री कोरोना का टीका लगाएं। उन्होंने कहा कि जो चीजें हम पर लागू होती हैं वही स्वास्थ्य कर्मियों पर भी लागू होती हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का टीका सभी को मिलना चाहिए और केंद्र सरकार को यह व्यवस्था सुनिश्चित भी करनी चाहिए, लेकिन ऐसा लग रहा है जैसे टीका के नाम पर इवेंट मैनेजमेंट चल रहा है। इससे लोगों में कई तरह की शंकाएं पनप रही हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप