जागरण संवाददाता, राची : मौसम पूर्वानुमान के तहत 23 से 26 मई तक राची समेत आसपास के क्षेत्रों में आशिक रूप से बादल छाए रहेंगे, जबकि 27 व 28 मई को गरज के साथ बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के निदेशक डॉ. एसडी कोटाल ने बताया कि दो दिनों तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। उसके बाद बादल गरज सकते हैं। शुक्रवार को सामान्य तापमान की तुलना में राची के अधिकतम तापमान में 2.0 डिसे. की वृद्धि व न्यूनतम तापमान में 2.0 डिसे. की गिरावट दर्ज की गई। मौसम पूर्वानुमान के तहत उन्होंने बताया कि 24-25 मई को राज्य के उत्तर-प‌रू्वी जिलों में कुछ स्थानों पर गरज के साथ वज्रपात और हल्की बारिश, 26 मई को राज्य के उत्तर-पूर्वी व दक्षिण-पूर्वी भाग में कुछ स्थानों पर गरज के साथ वज्रपात और हल्की बारिश, 27 व 28 मई को राज्य के उत्तर-पूर्वी व मध्य जिलों में कुछ स्थानों पर तेज हवा व गरज के साथ वज्रपात और हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है।

एम्फन के प्रभाव से राजमहल व महेशपुर में सबसे अधिक बारिश 60 मिमी. दर्ज

चक्रवातीय तूफान एम्फन के प्रभाव से पिछले 24 घटे में राजमहल व महेशपुर में 60 मिमी., मसानजोर, जमशेदपुर व पाकुड़ में 50 मिमी., म्हारो, कोनेर व पुटकी में 30 मिमी., चाईबासा, देवघर, गोड्डा, बोकारो व तेनुघाट में 20 मिमी. बारिश दर्ज की गई। बुधवार को जमशेदपुर में हवा की रफ्तार 46 किमी. प्रतिघटा व राची में हवा की रफ्तार 30 किमी. प्रति घटा दर्ज की गई। मौसम विभाग के निदेशक डॉ. एसडी कोटाल ने बताया कि चक्रवातीय तूफान एम्फन का लैंडफॉल उत्तर-उत्तर पूर्वी कोलकाता से लगभग 270 किमी. दूर बाग्ला देश में हुआ। पूर्वी साहेबगंज से यह क्षेत्र लगभग 200 किमी. दूर है। लैंडफॉल के समय वेरी सीवियर साइक्लोनिक स्टॉर्म की रफ्तार 155-165 किमी. प्रतिघटा थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस