जागरण संवाददाता, रांची : सीसीएल सीएसआर अंतर्गत कार्यान्वित महत्वाकाक्षी योजना लाल एवं लाडली का संचालन विगत पाच वर्षो से कर रहा है। इस योजना के अंतर्गत छात्रों का चयन कर उन्हें इंजीनियरिंग कॉलेज की प्रवेश परीक्षा के लिए कोचिंग उपलब्ध कराई जाती है। पिछले पाच वषरें में इन बच्चों ने आइआइटी सहित देश के विख्यात इंजीनियरिंग कॉलेजों जैसे एनआइटी एवं बीआइटी में प्रवेश प्राप्त कर न सिर्फ अपने परिवार बल्कि सीसीएल एवं झारखंड का भी नाम रौशन किया है। इस वर्ष सीसीएल के लाल के (2015-17 बैच) 5 छात्रों (45 फीसद) ने आइआइटी प्रवेश परीक्षा में सफलता प्राप्त कर एक नया इतिहास रचा है। इस वर्ष 12 छात्राओं (48 फीसद) ने जेईई मेन में सफलता प्राप्त की, जिसमें से 4 छात्राओं ने अंतत: आइआइटी में प्रवेश प्राप्त किया।

सीसीएल के लाल एवं लाडली की अभूतपूर्व सफलता को देखते हुए इस योजना का दायरा बढ़ा दिया गया है। बीसीसीएल एवं सीसीएल कमाड क्षेत्रों में सात केंद्र खोले गए हैं, जहां वीडियो कांफ्रेंसिंग आधारित स्मार्ट क्लासेज के माध्यम से बच्चों को निश्शुल्क कोचिंग प्रदान की जा रही है, जिसका शुभारंभ केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल द्वारा किया गया। हर केंद्र पर 50 बच्चों को कोचिंग सेवा उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। वर्तमान में राची केंद्र में ही 55 बच्चे इस योजना के तहत कोचिंग प्राप्त कर रहें हैं।

आगामी सत्र 2019-21 के लिए इंजीनियरिंग परीक्षा के उम्मीदवारों के लिए सीसीएल वर्ष 2019 में 10वीं बोर्ड की परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों से आवेदन आमंत्रित कर रहा है। इसकी सूचना शीघ्र ही प्रकाशित की जाएगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021