जासं, रांची : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने भारत और इंडिया के बीच के अंतर को विस्तार समझाया। उन्होंने भारत की सभ्यता, भौगोलिक विस्तार और गौरवपूर्ण इतिहास का वर्णन करते हुए कहा की देश की आजादी में 2 करोड़ 72 लाख कुर्बानियों ने भारत को आजाद कराया। यह किसी भी देश को आजाद करने की सबसे बड़ी कुर्बानियों में एक है। वे गुरुवार को राय विश्वविद्यालय में भारत की चुनौतियां और समस्याएं विषय पर आयोजित सेमिनार में बोल रहे थे। उन्होंने कहा, युवा अपने व्यक्ति से पहचाना जाता है, अलंकारों से नहीं। इंडिया और भारत के संबंध में कहा कि इंडिया को भारत की ओर ले जाना है। आज भारत की सबसे बड़ी चुनौती बेटियों की सुरक्षा है। शोषण मुक्त समाज होकर ही नया इंडिया निकलेगा। गांव, खेती, किसान और जंगल का सम्मान कर ही सभ्यता के संकट को दूर किया जा सकता है। जिम्मेदारी और चुनौतियां ही विकास के जन्म देते है। भारतीय अपने पुरुषार्थ से जीते हैं। जीवन मूल्यों वाली शिक्षा आवश्यक है।

इस अवसर पर झारखंड राय यूनिवर्सिटी की कुलपति डॉ. सविता सेंगर ने सर्वप्रथम पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को विषय प्रवेश के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा की चुनौतियों के प्रति सचेत रहने की जरूरत है। जीवन में कुछ प्राप्त करने के लिए चुनौतिया जरूरी है। चुनौतियां ही अपने आप को प्रस्तुत करने का अवसर देती है। 21 वीं सदी की चुनौतियों का आकलन और परिस्थितियों के साथ मुकाबला आवश्यक है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर पद्मश्री अशोक भगत उपस्थित थे। धन्यवाद ज्ञापन यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डॉ. पियूष रंजन ने किया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021