जागरण संवाददाता, रांची : विश्व ¨हदू परिषद प्रात कार्यालय, हरमू रोड, किशोरगंज चौक स्थित सभागार में धर्मप्रसार आयाम का तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग का समापन रविवार को हुआ। ¨हदू बचाओ, ¨हदू संभालो, ¨हदू बढ़ाओ के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। समापन पर परिषद के केंद्रीय सहमंत्री एवं केंद्रीय धर्मप्रसार प्रमुख अच्युतानंद कर ने स्थानीय भाषाओं के अध्ययन पर जोर दिया। वहीं, कहा कि हमें स्थानीय संतों से भी चातुर्मास व्यतीत करने के लिए आग्रह करना चाहिए। झारखंड सरकार को इस बात की बधाई दी कि उसने धर्मातरण निषेध कानून बनाया। उन्होंने मांग की कि अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना के तहत ¨हदुओं के लिए भी ऐसी छात्रवृत्ति चलाई जाए। डॉ बीके सिंह ने कार्यकर्ताओं से आग्रह किया वे उस क्षेत्र में अधिक प्रवास करें, जहां धर्मातरण होने की अधिक संभावना हो। गणेश शंकर विद्यार्थी ने भी अपनी बात रखी। तीन दिन के प्रशिक्षण वर्ग के समापन पर वरिष्ठ प्रचारक विजय घोष का बौद्धिक हुआ। इस मौके पर यदुनाथ पांडेय, नंद किशोर प्रसाद, अनूप यादव आदि मौजूद थे।

एसपीसीए के दोषी अधिकारियों पर हो कार्रवाई : स्वामी दिव्यानंद ने एसपीसीए के दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की। वहीं, गैर सरकारी संगठनों, जो धर्मातरण में लिप्त थे, उन पर भी कार्रवाई की मांग की। प्रांत मंत्री बीरेंद्र साहु ने भी विचार रखे। विहिप के क्षेत्रीय मंत्री वीरेन्द्र विमल ने भी संतों की भूमिका के बारे में बताया। रेणु अग्रवाल ने लव जिहाद से बचाने के लिए स्त्रियों एवं युवतियों में जागृति पर जोर दिया। उल्लेखनीय है कि विश्व हिंदू परिषद समय समय पर सरकार से धर्मातरण बिल को सख्ती से लागू करने की मांग करती रही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021